मात्रा 21000 के लिए साथी को उतारा मौत के घाट,CCTV से सुलझी हत्या की गुत्थी,आरोपी गिरफ्तार

तखतपुर(टेकचंद कारड़ा)मछली विक्रेता युवक के सिर पर भारी पत्थर से कुचल कर हत्या के मामले का खुलासा किया है। पुलिस के अनुसार आरोपी ने सिर्फ 21 सौ रुपए के कारण मछली विक्रेता की हत्या कर की है।पुलिस कप्तान प्रशांत अग्रवाल के निर्देश पर एडिशनल एसपी ग्रामीण संजय ध्रुव एसडीओपी रश्मीत कौर चावला के मार्गदर्शन में तखतपुर पुलिस ने हत्या के मामले का खुलासा किया है। थाना प्रभारी मोहन भारद्वाज ने टीम के साथ 31 जनवरी की रात हत्या की गुत्थी को सुलझा लिया है। 

पुलिस ने हत्या का खुलासा कर बताया कि 31 जनवरी की रात मुंगेली निवासी परदेसी मल्लाह  बिलासपुर मछली बेचने आया था। रात लगभग 9 बजे परदेशी बिलासपुर से  मुंगेली जाने के लिए रवाना हुआ। मुंगेली के लिए तखतपुर तक अन्य वाहन का सहारा लिया।वाहन के रवाना होने के बाद कुछ ही दूर पर एक और युवक मिला। उसने भी वाहन चालक से  तखतपुर जाने के लिए मदद मांगा। ने ईसके बाद दोनों तखतपुर पुराना बस स्टैंड के पास उतर गए। ईसके बाद कुछ देर तक परदेशी मुंगेली जाने के लिए कई गाड़ियों से लिफ्ट मांगा लेकिन उसे सााढ़े 10 बजे तक कोई कामयाबी नही मिली। 

 वाहन नही मिलने पर पेदेशी और साथ का आदमी पुराना नगर पालिका परिसर में स्थित एक होटल में  खाना खाने गए । खाना खाने के बाद दोनों एकबार फिर पुराना बस स्टैंड पर आ गया । एक बार मुंगेली के लिए कोई साधन नही मिला। इसी दौरान परदेशी के साथी मनीष श्रीवास ने कहा कि उसके रिश्तेदार बेलसरी में रहते हैं। रात रुइने के बाद सुबह घर कहले जाएंगे।इसके बाद दोनों बेलसरी के लिए पैदल ही रवाना हो गए।

  खुलासे में पुलिस ने बताया कि मनीष श्रीवास के मन में लालच थी। क्योंकि उसे जानकारी थी कि  परदेसी बिलासपुर में मछली बेच कर आया है। पैसा उसके पास है।  इस दौरान मनीष परदेशी से बार-बार जानना चाह रहा था कि उसके पास कितना पैसा है ।लेकिन परदेशी ने कुछ नही बताया। इसके बाद और वह परदेशी को धोखे में रखकर नए बस स्टैंड के पास स्थित स्टेट बैंक के पीछे उसे ले गया। 

 मौके पर पहुंचकर मनीष ने परदेशी को  धक्का देकर गिराया फिर पत्थर सिर पर हमला कर दिया। जेब में रखे पैसे और गठरी को अपने साथ लेकर चला गया।  इधर पुलिस हत्या के बाद मामले को खुलासे के लिए लगी हुई थी।  पुराना बस स्टैंड तखतपुर मे टेकचंद कारड़ा के यहां लगी सीसीटीवी कैमरे से फुटेज निकाला गया।जांच पड़ताल के दौरान पाया गया कि 31 जनवरी को दोनों युवक बस स्टैंड पर थे । फुटेज में दोनों को नए बस स्टैंड की ओर जाते देखा गया। पुलिस ने परदेशी के साथ मौजूद दूसरे युवक की पतासाजी तेज की।

         लगातार मेहनत करने के बाद  शक के आधार पर जराहागांव निवासी मनीष श्रीवास को पकड़ कर पूछताछ पुलिस ने बिलासपुर के एक घर से पकड़ा और  पूछताछ की गयी। मनीष श्रीवास ने परदेशी की हत्या का जुर्म कबूल किया।पुलिस के अनुसार आरोपी को पकड़ने में  सीसीटीवी की भूमिका अहम साबित हुई। माम्मले को सुलझाने में थाना प्रभारी मोहन भारद्वाज रवि श्रीवास मिथिलेश  सोनवानी  आशीष वसत्रकार स्टाफ का विशेष योगदान रहा।

जरहागांव‌ मे मोबाईल चोरी कर चुका 

पुलिस ने बताया कि आरोपी जरहागांव की एक मोबाईल दुकान मे मोबाईल चोरी कर चुका है। लेकिन जेल जाने पहले दोनो पक्ष आपस मे समझौता कर लिए थे।

The post मात्रा 21000 के लिए साथी को उतारा मौत के घाट,CCTV से सुलझी हत्या की गुत्थी,आरोपी गिरफ्तार appeared first on CGWALL-Chhattisgarh News.