इन्हें क्षमा करें महाराणा.. आपका पराक्रम धुल रहा, देखकर ये मौन

Share This :
कवर्धा| यह प्रतिमा नगर के सुधा वाटिका में स्थापित राष्ट्रीय स्वाभिमान और सम्मान के प्रतीक महाराणा प्रताप की है। चेतक (घोड़े) पर सवार महाराणा प्रताप की प्रतिमा के नीचे शिलापट पर उनके पराक्रम की गाथा लिखी हुई है। किसी के आगे न झुकने वाले इस परम प्रतापी की प्रतिमा के नीचे लिखा पराक्रम धुल रहा है और जिम्मेदार ध्यान नहीं दे रहे। 19 जनवरी को थी पुण्यतिथि: वीरता और स्वाभिमान के प्रतीक महाराणा प्रताप 19 जनवरी 1597 को अमरता को प्राप्त हो गए थे। 19 जनवरी को उनकी पुण्यतिथि थी, जिसे भुला दिया गया। यही कारण है कि नगर पालिका ने प्रतिमा की सफाई भी नहीं कराई। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Kawardha News – chhattisgarh news forgive them maharana your might is washed away seeing this silence Kawardha News – chhattisgarh news forgive them maharana your might is washed away seeing this silence

Author: newsnet

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *