मदर एंड चाइल्ड हॉस्पिटल में बिजली वायरिंग है कामचलाऊ, अभी शुरू नहीं हो पाएगा प्रसूति विभाग

Share This :
मानक विहीन उपकरणों का इस्तेमाल किए जाने से मातृ व शिशु अस्पताल के ग्राउंड फ्लोर को छोड़ कर सभी तलों में विद्युत आपूर्ति ठप है। विद्युत प्वाइंट पर लोड डालते ही सप्लाई कट रही है। कई दिनों से इलेक्ट्रीशियन बिल्डिंग में फाल्ट नहीं ढूंढ पाए हैं। विद्युत आपूर्ति का ठीक तरह से संचालन न हो पाने के कारण गायनिक यूनिट स्थानांतरित नहीं हो पा रही है। अभी भी मेकाहारा में भर्ती प्रसूताओं को परेशानियां उठानी पड़ रही हैं। संसाधनों के अभाव में कोई अफसर गायनिक यूनिट को स्थानांतरित करने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहा है। मातृ शिशु अस्पताल में शुरुआत से ही समस्याओं से घिरा चला आ रहा है। मेकाहारा से गायनिक वार्ड के साथ ही पूरी यूनिट स्थानांतरित किए जाने को लेकर पहले अफसर ट्रांसफार्मर को कम क्षमता का बताते रहे। मामले की छानबीन हुई तो सब कुछ ठीक निकला। नवंबर में डेंगू की हकीकत जांचने पहुंची सचिव स्वास्थ्य निहारिका बारिक सिंह ने 2019 के अंत तक हर हाल में गायनिक विभाग शुरू करने के निर्देश दिए थे। तैयारियां शुरू की गई तो वायरिंग के साथ ही कई इलेक्ट्रानिक खामियां निकल सामने आईं। इसे सुधार के निर्देश दिए गए और कुछ जगहों पर उपकरण बदलने का काम शुरू किया गया। कई दिनों से इलेक्ट्रीशियन बिल्डिंग का फाल्ट नहीं ढूंढ पा रहे हैं। बमुश्किल ग्राउंड फ्लोर की आपूर्ति बहाल की जा सकी है। जबकि प्रथम तल से लेकर तृतीय तल और ओटी में कहीं पर आपूर्ति नहीं है। काम करने वाले कर्मचारी पूरी वायरिंग को गलत बता रहे है‌ं। बदलनी होगी पूरी वायरिंग एमसीएच में बिजली का काम रहे कर्मियों ने बताया कि विद्युत बोर्ड, स्विच, पावर कंट्रोलिंग के लिए लगी एमसीबी गुणवत्ताविहीन है और घटिया तारों का इस्तेमाल किया गया है। कई जगहों पर कॉपर के स्थान पर एल्यूमीनियम वायर डाले गए हैं। लोड लेते ही शार्ट सर्किट हो रहा है। किसी भी प्वाइंट पर एमसीबी काम नहीं कर रही है। जब तक नए सिरे से काम नहीं होगा कभी भी विद्युत आपूर्ति सही तरह से नहीं होगी। नहीं बदली पानी की टंकी और पाइप लाइन लगातार अफसर मॉनिटरिंग कर रहे हैं, ग्राउंड फ्लोर की लाइट ठीक की गई। शेष में अभी समय लगने की बात कही जा रही है। कुछ दिन पहले पानी की पाइप लाइन फट गई थी। जिसे अभी तक नहीं बदला गया है, औपचारिकता के तौर पर एक दूसरी टंकी में कनेक्शन कर दिया गया है। जिससे काम तो चल रहा है लेकिन आवश्यकता अधिक होने पर समस्या होगी।” डॉ. अशोक अग्रवाल प्रभारी एमसीएच Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

Author: newsnet

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *