जापान के चितेत्सु वतनाबे दुनिया के सबसे उम्रदराज जीवित व्यक्ति, गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में नाम दर्ज

Share This :

टोक्यो. जापान के चितेत्सु वतनाबे दुनिया के सबसे उम्रदराज जीवित पुरुष बन गए हैं।12 फरवरी, 2020 कोइनकी उम्र 112 साल 344 दिन है। चितेत्सु का जन्म 5 मार्च को नीगाता में 1907 में हुआ था।गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स ने बुधवार को उन्हें घर पर जाकर सर्टिफिकेट दिया।


चितेत्सु आठबच्चों के पिता हैं। वे गन्ने के खेत में काम करते थे। परिवार के सदस्य बताते हैं कि वे कभी नाराज नहीं होते हैं और न ही तेज आवाज में बात करते है। हमेशा मुस्कुराते रहते हैं। वे बताते हैं कि एग्रीकल्चर से ग्रेजुएशन के बाद वह ताइवान चले गए और गन्ना बागान में काम किया। बच्चों और पत्नी के साथ यहां 18 साल रहे। इसके बाद द्वितीय विश्व युद्ध में सेना में काम किया।इसके बाद वे नीगाता लौट आए और सरकारी ऑफिस में रिटायरमेंट तक काम किया। इस दौरान वे अपने फॉर्म में सब्जियां और फल उगाते थे।

चितेत्सु हमेशा मुस्कुराते रहते हैं।

इससे पहले जापान के ही सबसे बुजुर्ग पुरुष मासाजो नोनाको थे। उनका निधन 12 जून 2013 को हुआ था। तब उनकी उम्र 113 साल 54 दिन थी।वे जापान की केन तनाका से चार साल छोटे थे। फिलहाल,तनाका दुनिया की सबसे उम्रदराज जीवित महिला हैं। इनकी उम्र 117 साल है।

केन तनाका ने इस साल 5 जनवरी को अपना 117वां जन्मदिन मनाया था।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
चितेत्सु पांच बच्चों के पिता हैं। उन्होंने द्वितीय विश्व युद्ध में सेना में काम किया था।

Author: newsnet