Daily Mirror, Be Part Of It….

बालोद में सड़क पर पूछताछ करने पर आर्मी के जवान ने पुलिसवालों पर तलवार-लाठी से हमला किया, 2 घायल

Share This :

रायपुर. कोरोनावायरस के संक्रमण से बचाने के लिए 21 दिन के लॉकडाउन के बावजूद लोग अभी भी सड़कों पर निकल रहे हैं। इस बीच बालोद में गुरुवार दोपहर आर्मी जवान नेपुलिसकर्मियों परहमला कर दिया। इसमें हैड कांस्टेबल विकास राजपूत और कांस्टेबल कमलेश रावटे घायल हो गए। दोनों को अर्जुंदा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है।

जानकारी के मुताबिक, आर्मी जवान की बहन सब्जी बेचती है। वह घर लौट रही थी। इस दौरान छुट्‌टी पर घर आया जवान भी उसके साथ था।अर्जुन्दा नगर के दाऊपारा चौक पर पुलिसकर्मियों ने दोनों को रोक लिया और पूछताछ शुरू कर दी। आरोप है कि इस दौरान जवान ने पुलिसकर्मियों पर लाठी और तलवार से हमला कर दिया। वहीं आर्मी जवान का कहना है कि पुलिसकर्मियों के पूछने पर उसने जानकारी दे दी थी।इसके बावजूद उसके साथमारपीट की गई। दोनों ने अपने उच्चाधिकारियों को जानकारी दे दी है।

वहीं, प्रदेश में दोपहर होने के साथ ही सड़क पर लोगों की भीड़ कम हो गई है। सरकार भी ऐसे लोगों के खिलाफ और ज्यादा सख्ती बरतने लगी है। प्रशासन की ओर से स्पष्ट कर दिया गया है किबाहर मिलने पर एफआईआर दर्ज होगी और वाहन जब्त किए जाएंगे। इससे जहां एक ओर सड़कें सूनी हैं, वहीं बाजारों में भीड़ उमड़ी है। लोगों को इस बात का डर ज्यादा है कि लॉकडाउन को और बढ़ाया जा सकता है। इसके चलते सब्जियों और राशन के दाम बढ़ गए हैं।


10 माह तक है चावल का स्टाक, एक अप्रैल से सबको मुफ्त
प्रशासन ने साफ कर दिया है कि अनाज कारोबारी हों या राशन दुकानें, प्रदेश में अगले 10 माह तक का चावल स्टाक है। अफसरों ने एजेंसियों को ताकीद की है कि उन्हें हर हाल में गैस की होम डिलीवरी करवानी पड़ेगी। अगर किसी ने इससे मना किया तो उसके खिलाफ केस दर्ज कर लाइसेंस भी रद्द कर सकते हैं। राज्य सरकार के निर्देश पर 1 अप्रैल से राशन दुकानों से दो महीने का चावल एक साथ फ्री मिलेगा। अफसरों ने बताया कि गेहूं, दालें और शक्कर वगैरह का स्टाक भी लगभग इतना है, इसलिए घरों में बहुत ज्यादा स्टाॅक करने की जरूरत नहीं है।


रायपुर : अब समझाइश नहीं, सिर्फ एफआईआर

रायपुर में प्रशासन की सख्ती के चलते सड़क पर पसरा सन्नाटा।

राजधानी में लोग मान नहीं रहे हैं। मोहल्ले, गलियों और कॉलोनियों में बैठकर गप्पे कर रहे हैं। घरों के बाहर बैठे लोगों पर एफआईआर दर्ज की जाएगी। इसमें 6 माह से लेकर 2 साल तक की सजा और जुर्माने का प्रावधान है। कार्रवाई के लिए अलग से टीम बनाई गई है, जो बाइक से गली-मोहल्ले में घूमेंगी। दुकान खोलने वाले कारोबारियों का दुकान सील कर केस दर्ज किया जाएगा। जबकि बाहर घूमने वालों के वाहन जब्त होंगे।

घर तक सामान पहुंचाने की तैयारी

कुछ फूड डिलीवरी कंपनियों ने ऑफर किया है कि प्रशासन और पुलिस चाहें तो वे आंशिक तौर पर लोगों की जरूरत का सामान उनके घर पहुंचा सकते हैं। एसएसपी आररिफ शेख ने बताया कि इस प्रस्ताव पर प्रशासनिक अफसरों से विचार-विमर्श कर आज-कल में ही फैसला कर लेंगे। अगर से तय होता है तो कंपनी के हर कर्मचारी सेनिटाइजर, हाथों में ग्लब्स लेगा। घरों में पहुंचाने वाले सामान को भी सेनेटाइज करना होगा।

दुर्ग-भिलाई :पॉजीटिव केस मिलने के बाद भी जारी है लापरवाही, मार्केट में भीड़

भिलाई के बाजार में सुबह उमड़ी लोगों की भीड़।

भिलाई में कोरोना का पहला पाॅजीटिव केस सामने आ चुका है। बावजूद लोग भीड़ में निकल रहे हैं। सुबह पावर हाउस, नंदिनी रोड, जवाहर मार्केट और सुपेला इलाके में भीड़ देखने को मिली। लोग सोशल डिस्टेंस का पालन करने की बजाए इसका खुला उल्लंघन कर रहे हैं। सड़क पर बेवजह घूमने वालों के खिलाफ पुलिस ने 29 लोगों पर मामला दर्ज किया है। के खिलाफ इसमें 8 लोगों को जेल भेजा गया। जिले की सभी सीमाओं को सील कर दिया गया है। दूसरे जिले और दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।


बिलासपुर : गुरु घासीदास केंद्रीय विविद्यालय की कुलपति प्रो.अंजिला गुप्ता और उपमहाधिवक्ता हमीदा सिद्दकी को स्वास्थ विभाग ने होम आइसोलेटेड किया है। कुलपति प्रो.अंजिला गुप्ता कुछ दिनों से दिल्ली में थी। लौटने पर उन्होंने इसकी सूचना स्वास्थ्य विभाग को दी। जांच में उनकी स्थिति सामान्य मिली है, लेकिन उन्हें 28 दिनों के लिए होम आइसोलेश किया गया है। वहीं बाजारों में लोग तो निकल रहे हैं, लेकिन सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रखा जा रहा है। इस बीच बिलासपुर पुलिस का सामाजिक चेहरा भी सामने आया। पुलिस ने जरूरतमंदों को फूड पैकेट, साबुन और मास्क बांटे। लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने को कहा।

अंबिकापुर : नगर निगम निशुल्क करेगा होम डिलीवरी

अंबिकापुर नगर निगम अब लोगों को जरूरी सामान होम डिलीवरी निशुल्क करेगा।इसके लिएनिगम ने 9754002200 नंबर उपलब्ध कराया है, जिस पर लोग अपने जरूरत का सामान व्हाट्सएप कर सकेंगे। इसके साथ अपना पता भी देना होगा। निगम का संबंधित व्यक्ति उन्हेंजरूरत के सामान उपलब्ध कराएगा। इन जरूरत के सामानों में प्रमुख रूप से राशन के सामान, सब्जियां और डेयरी के सामानों को रखा गया है।

रायगढ़ : दूध के लिए परेशानी बढ़ी, 600 लोग होम आइसोलेशन में
जिले में करीब 600 लोगों को होम आइसोलेशन में रखा गया है। शहर में प्रशासन ने 24 स्थानों पर सब्जी के स्टॉल लगवाए हैं। हालांकि इस व्यवस्था के बाद हालात और बिगड़ गए हैं। सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ गई है। सामान कम और लोग ज्यादा होने से सब्जियों के दाम दोगुने हो गए हैं। दूध उत्पादक और सप्लायर के गांवों से नहीं निकल सकने के कारण उसकी किल्लत होती जा रही है। वहीं सड़क पर प्रदूषण कम होने से अस्पताल में भी मरीजों की संख्या में कमी आना शुरू हो गई है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
बालोद में हुई मारपीट के दौरान घायल पुलिसकर्मियों को ले जाया गया अस्पताल।
रायपुर में एक बुजुर्ग हाथों में तिरंगा लिए लोगों को घर में रहने और जागरूक करने के लिए इस तरह घूम रहे।

Powered by WPeMatico

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

%d bloggers like this: