जिले में फिलहाल बस, ऑटो और ई-रिक्शा भी नहीं चलेंगेे

सिटी बसों में 20 सवारियों को बिठाकर परिवहन सेवा चालू करने की चर्चाओं को आरटीओ अतुल विश्वकर्मा ने खारिज कर दिया। उनका कहना है कि शासन ने किसी भी तरह सेवाओं को संचालित करने की अभी अनुमति नहीं दी है। दरअसल, पिछले दिनों 20 सवारियों के साथ यात्री बसों के संचालन की अनुमति मिलने की चर्चाएं आम हो गई। बस संचालक खासे परेशान हो गए। उनका कहना था कि इस तरह बस चलाने से उनके डीजल का भी खर्चा तक नहीं निकलेगा। 14 मई के बाद से लोकल बसों के संचालन को लेकर चर्चाएं जोर पकड़ने लगी। परिवहन संघों ने भी शासन ने सोशल डिस्टेंसिंग के पालन के साथ बसों का संचालन दोबारा से शुरू करने की गुहार भी लगाई। सीमित सवारी के साथ परिवहन की अनुमति मिलने की चर्चा थी। एक रूट पर बसों में 20 सवारी ही बिठाने का आदेश मिलने की बात कही गई। छग यातायात महासंघ के विधि सलाहकार शिवेश सिंह ने बताया कि इस की अनुमित के आधार पर बसों का शुरू करने पर डीजल का खर्चा निकलना तो दूर रहा। आरटीओ अतुल विश्वकर्मा ने कहा, फिलहाल बस, ऑटो और ई-रिक्शा का परिचालन बंद है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

Powered by WPeMatico

%d bloggers like this: