सेंटर फॉर बेसिक साइंस के लिए ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा मुश्किल, ऑफलाइन जुलाई में

सेंटर फॉर बेसिक साइंस (सीबीएस) के लिए ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा की योजना बनाई गई थी। लेकिन इस बार भी ऑनलाइन परीक्षा मुश्किल है। प्रवेश के लिए ऑफलाइन परीक्षा की संभावना ज्यादा है। जुलाई में यह परीक्षा हो सकती है। पं.रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय कैंपस में संचालित इस सेंटर में 60 सीटों पर प्रवेश होगा। 40 सीटों के लिए रविवि से परीक्षा आयोजित की जाएगी। इसके लिए आवेदन की प्रक्रिया चल रही है।
40 सीटों के लिए करीब 400 आवेदन मिल चुके हैं। फार्म भरने की आखिरी तारीख 15 जून तक है तब तक आवेदन का आंकड़ा हजार से अधिक हो सकता है। हालांकि, पिछली बार की तुलना में इस बार आवेदन ज्यादा मिलेंगे इसकी संभावना कम है। पिछली बार सीबीएस की प्रवेश परीक्षा के लिए विश्वविद्यालय को 1760 आवेदन मिले थे। कोरोना वायरस की वजह से इस बार आवेदन में कमी आ सकती है। शिक्षाविदों का कहना है कि सीबीएस के लिए हर साल राज्य के अलग-अलग जिलों से भी छात्रों के आवेदन मिलते थे, इस बार एक जगह से दूसरी जगह जाने में परेशानी है। छात्रों
में भी डर है। इसलिए आवेदन में कमी आ सकती है। विश्वविद्यालय की आेर से इस बार प्रवेश परीक्षा ऑनलाइन आयोजित करने की योजना बनायी गई। इसके अनुसार तैयारियां भी की गई।लेकिन अब फिर से पुराने तरीके से ही प्रवेश परीक्षा आयोजित करने पर विचार किया जा रहा है। यानी ऑफलाइन ही परीक्षा होगी। वेबसाइट www.prsu.ac.in से आवेदन से संबंधित विस्तृत जानकारी प्राप्त की जा सकती है।
बारहवी साइंस के आधार पर मिलेगा एडमिशन
सीबीएस में एडमिशन बारहवी साइंस के आधार पर मिलेगा। यहां बायो और मैथ ग्रुप से संबंधित पांच वर्षीय कोर्स है। बारहवी पास स्टूडेंट्स इसमें एडमिशन के लिए पात्र हैं। प्रवेश परीक्षा और काउंसिलिंग के माध्यम छात्रों को प्रवेश मिलेगा। शिक्षाविदों का कहना है कि बेसिक साइंस सेंटर में एडमिशन को लेकर छात्रों की दिलचस्पी हर साल बढ़ रही है। यहां पांच वर्षीय कोर्स है। पांच वर्ष तक पढ़ाई करने पर सीधे पीजी की डिग्री मिलेगी। इसके अलावा यह भी विकल्प है कि कोई छात्र तीन साल ही पढ़ाई करना चाहता है तो भी वह कर सकता है। तीन साल की पढ़ाई पूरी करने पर उसे ग्रेजुएशन की डिग्री मिलेगी।
स्कॉलरशिप हर छात्र के लिए
राज्य में बीएससी व एमएससी की पढ़ाई के लिए कुछ वर्ग के छात्रों को अलग-अलग माध्यमों से स्कॉलरशिप दी जाती है। लेकिन सीबीएस में एडमिशन पाने वाले हर छात्र, चाहे वह किसी भी वर्ग का हो। उन्हें 5000 रुपए प्रतिमाह की स्कॉलरशिप दी जाती है। इसके अलावा यहां का सिलेबस राज्य में संचालित दूसरे बीएससी व एमएससी से थोड़ा अलग है। इन्हीं वजहों से इस सेंटर की डिमांड बढ़ रही है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

Powered by WPeMatico

%d bloggers like this: