दिल्ली में उड़ानों की तैयारी पूरी, महाराष्ट्र ने अब तक मंजूरी नहीं दी, पंजाब-छत्तीसगढ़ समेत 8 राज्यों में यात्रियों को क्वारैंटाइन होना होगा

नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने 25 मई से घरेलू उड़ानें शुरू करने का ऐलान किया है। लेकिन, महाराष्ट्र सरकार ने कहा है कि 31 मई तक राज्य में लॉकडाउन प्रभावी है। अभी तक सरकार ने ना लॉकडाउन नियमों में बदलाव किया है और ना ही उड़ानों को मंजूरी दी है। पंजाब और छत्तीसगढ़ जैसे 8 राज्यों ने कहा है कि राज्य में लैंड करने वाले यात्रियों को क्वारैंटाइन होना होगा।

इन राज्यों में क्वारैंटाइन में जाएंगे यात्री

  • पंजाबःमुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कहा कि राज्य में विमान, ट्रेन या बस से आने वाले सभी यात्रियोें को अनिवार्य तौर पर 14 दिन के होम क्वारैंटाइन में जाना होगा।
  • अंडमान-निकोबारः प्रशासन ने भी वहां जाने वाले सभी विमान यात्रियों के लिए सख्त स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (एसओपी) तय किया है। सभी यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग होगी। उन्हें 14 दिन के लिए होम क्वारैंटाइन में जाना होगा।
  • छत्तीसगढ़ःमुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि 25 मई से राज्य में आने वाले सभी विमान यात्रियों को 14 दिन के इंस्टिट्यूशन क्वरैंटाइन पीरियड में जाना होगा। उन्होंने कहा कि घरेलू उड़ानों के शुरू होने के बाद संक्रमण फैलने की आशंका को दरकिनार नहीं किया जा सकता है।
  • कर्नाटकः राज्यसरकार ने कहा है कि राज्य में महाराष्ट्र, गुजरात, तमिलनाडु, दिल्ली, राजस्थान और मध्य प्रदेश से किसी भी माध्यम से आने वाले यात्रियों को 7 दिन के इंस्टिट्यूशन और 7 दिन के होम क्वारैंटाइन में जाना होगा।
  • केरल, असम, उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेशःइन राज्यों में विमान यात्रियों को 14 दिन क्वारैंटाइन में जाना होगा।
  • उत्तराखंडःऐसे यात्रियों को 10 दिन के लिए होटल या सरकारी जगह पर क्वारैंटाइन होना होगा।
  • गोवाः राज्य सरकार चाहती है कि राज्य में विमान से आने वाले सभी यात्रियों का एंटी बॉडी टेस्ट किया जाए।

दिल्ली में एयरपोर्ट पर थर्मल स्कैनर से जांच होगी
दिल्ली से आने-जाने वाली सभी घरेलू उड़ानें इंदिरा गांधी हवाई अड्‌डे के टर्मिनल-3 से ऑपरेट होंगी। दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (डीआईएएल) ने बताया किप्रवेश के दौरान सीआईएसएफ थर्मल स्कैनर से तापमान की जांच करेगी। यात्रियों के फोन पर आरोग्य सेतु ऐप होना जरूरी होगा।

डीआईएएल के सीईओ विदेह जयपुरियर ने कहा कि पहली फ्लाइट 25 मई को शाम 4.30 बजे की है। उन्होंने कहा, ‘‘हमने यह सुनिश्चित करने के लिए सभी व्यवस्थाएं की हैं कि यात्रियों की बोर्डिंग टचलेस हो। इसलिए आप घर से बोर्डिंग पास का प्रिंट लेकर आएं या स्कैन-एंड-फ्लाई कियोस्क का उपयोग करें। यदि कोई भ्रम है तो यात्री हवाई अड्डे के कर्मचारियों से संपर्क कर सकते हैं।’’

दिल्लीसे रोज 190 फ्लाइट्स उड़ान भरेंगी
सरकार ने एक तिहाई उड़ानों की अनुमति दी है, इसलिए अब दिल्ली हवाई अड्डे से रोज 190 उड़ानें रवाना होंगी और उतनी ही संख्या में विमान यहां पर उतरेंगे। रोज लगभग 20 हजार यात्रियों के एयरपोर्ट आने की संभावना है।कोविड -19 के संक्रमण को देखते हुए, देश में नियमित यात्री उड़ानों को 25 मार्च से पूरी तरह रोक दिया गया था। दो महीने बाद, 25 मई से, एक तिहाई उड़ानों को शुरू करने की अनुमति दी गई है।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
99 डिग्री फॉरेनहाइट (37.2 डिग्री सेल्सियस) से ज्यादा तापमान होने पर यात्रियों को जाने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

Powered by WPeMatico

%d bloggers like this: