सवा साल से अटकी है शिक्षाकर्मियों की भर्ती; पंचायत मंत्री सिंहदेव ने कहा- युवाओं की पीड़ा से दुखी और शर्मिंदा हूं

छत्तीसगढ़ में शिक्षक भर्ती को लेकर संघर्षरत युवाओं को लेकर पंचायत और ग्रामीण विकास मंत्री टीएस सिंहदेव सामने आए हैं। उन्होंने कहा कि युवाओं की पीड़ा से बहुत दुखी और शर्मिंदा हैं। जो वादा किया था, उस पर अटल हैं और सरकार प्रयास कर रही है। दरअसल, प्रदेश में करीब सवा साल से शिक्षक भर्ती प्रक्रिया अटकी हुई है। इसको ने लेकर अभ्यर्थी काफी नाराज हैं और लगातार प्रदर्शन भी करते रहे हैं।

शिक्षक भर्ती 2019 का विज्ञापन पिछले साल 9 मार्च 2019 को जारी हुआ था। इसके अंतर्गत व्याख्याता, शिक्षक सहायक, शिक्षक विज्ञान सहायक, शिक्षक विज्ञान प्रयोगशाला के कुल 14580 पदों पर भर्ती होनी है। करीब सवा साल बीत जाने के बाद भी अब तक सिर्फ परीक्षा आयोजित कर उसका परिणाम ही घोषित किया गया है। इसके बाद करीब 4 माह पहले सत्यापन कार्य शुरू हुआ, लेकिन वह भी काफी धीमी गति से चल रहा है।

व्याख्याता के लिए दस्तावेज सत्यापन औरदावा आपत्ति पूरी, फिर भी नहीं जारी हुई सूची
14 माह बीत जाने के बाद भी अभी तक ना तो व्याख्याता का अंतिम पात्र-अपात्र सूची जारी की गई है और ना ही किसी भी शिक्षक और सहायक शिक्षक संवर्ग की प्रथम पात्र-अपात्र सूची जारी हुई है। व्याख्याता के लिए दस्तावेज सत्यापन के बाद दावा आपत्ति भी पूर्ण हो गया है। अब केवल अंतिम चयन सूची जारी करना है। इसी तरह शिक्षक और सहायक शिक्षक वर्ग में दस्तावेज सत्यापन का कार्य पूर्ण हो गया है लेकिन पात्र अपात्र सूची जारीं नही हो पाई है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
शिक्षक भर्ती को लेकर संघर्षरत युवाओं को लेकर पंचायत और ग्रामीण विकास मंत्री टीएस सिंहदेव सामने आए हैं। उन्होंने कहा कि युवाओं की पीड़ा से बहुत दुखी और शर्मिंदा हैं।

Powered by WPeMatico

%d bloggers like this: