कोरोना ने रोकी हाईकोर्ट में सुनवाई, एक सप्ताह के लिए बंद; व्यापारियों ने ई-पास की अनिवार्यता खत्म करने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र

कोरोना संक्रमण के बीच प्रदेश में इन दिनों चिठ्‌ठी-पत्री चल रही है। सरकार की ओर से केंद्र को भेजे गए तमाम पत्रों के बाद अब व्यपारियों ने भी मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को चिठ्‌ठी लिखी है। व्यापारियों की मांग है कि ई-पास की अनिवार्यता को खत्म किया जाए। व्यापारियों का कहना है कि इसको लेकर केंद्र सरकार ने पहले ही आदेश जारी कर दिए हैं। ई-पास अनिवार्य होने के चलते कारोबार प्रभावित हो रहा है।

कैट और छत्तीसगढ़ चैंबर ने कहा- कई राज्यों ने ई-पास खत्म किए

  • दरअसल, केंद्र सरकार की ओर से ई-पास की अनिवार्यता खत्म होने के बाद अब छत्तीसगढ़ में भी इसे खत्म करने की मांग तेज हो गई है।
  • छत्तीसगढ़ चैंबर और कैट की ओर से मुख्यमंत्री और सामान्य प्रशासन विभाग के सचिव कमलप्रीत सिंह को चिट्ठी लिखी गई है।
  • पत्र में कहा गया है, दूसरे कई राज्यों ने ई-पास की अनिवार्यता खत्म कर दी है। इसलिए छत्तीसगढ़ सरकार को भी इस नियम को खत्म कर देना चाहिए।
  • ई-पास की वजह से अभी दूसरे राज्यों से या जिलों से आने वाले कारोबारियों को परेशानी होती है। कई जगहों पर उन्हें रोका जाता है।

मुख्यमंत्री ने पत्र में कहा- जिम संचालकों को आर्थिक परेशानी
वहीं दूसरी ओर मुख्यमंत्री बघेल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है। इसमें उन्होंने जिम संचालन की सशर्त अनुमति देने का आग्रह किया है। मुख्यमंत्री ने कहा, लॉकडाउन में चरणबद्ध रूप से छूट देते हुए आर्थिक गतिविधियां पुनः प्रारंभ की जा रही हैं। विभिन्न गतिविधियों को एसओपी के पालन की शर्त पर भारत सरकार ने अनुमति दी है, लेकिन जिम संचालन की कोई अनुमति नहीं दी गई है। इससे जिम संचालकों को आर्थिक कठिनाइयां आ रही हैं।

मरीज मिलने के बाद भी कंटेनमेंट जोन नहीं बना, लोगों से कहा- खुद ही रोकें
रायपुर शहर में कंटेनमेंट जोन बनाने को लेकर अब पहले की तरह सख्ती नहीं दिखाई रही है। कई जगह कंटेनमेंट जाेन तक नहीं बनाए जा रहे हैं। पुलिस कालोनी के बाद राजधानी विहार में शनिवार को बिजली विभाग के कर्मचारी की रिपोर्ट पाॅजिटिव आई। रविवार रात तक वहां कंटेनमेंट जोन नहीं बनाया। पुलिस ने इलाके का दो चार बार दौरा भी किया, मरीज के घर के आसपास रहने वाले लोगों से कहा कि वे लोग यहां जो भी आ जा रहे हैं, उसे रोकें।

हाईकोर्ट के साथ महाधिवक्ता कार्यालय भी रहेगा बंद
हाईकोर्ट परिसर स्थित महाधिवक्ता कार्यालय के जनसंपर्क अधिकारी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। संक्रमण से बचाने के लिए अधिकारियों का रविवार को परीक्षण किया गया। साथ ही एक सप्ताह के लिए महाधिवक्ता कार्यालय को बंद कर दिया गया है। इस बात की जानकारी होते ही हाईकोर्ट को भी एक सप्ताह के लिए बंद कर दिया गया है। हाईकोर्ट से जारी आदेश में टेंपरेरी बंद किए जाने की जानकारी दी गई है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
छत्तीसगढ़ के बालोद में जवाहर पारा निवासी युवा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष यूनुस खान की मौत हो गई। परिजनों के अनुसार हार्ट अटैक से मौत हुई है। मृतक का घर कंटेनमेंट जोन से लगा हुआ बफर जोन के दायरे में है। इनका भतीजा भी संक्रमित के संपर्क में आने की वजह से होम क्वारेंटाइन है। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम वहां लोगोें के सैंपल लेने के लिए पहुंची।

Powered by WPeMatico

%d bloggers like this: