एनकाउंटर केस की जांच एसआईटी को सौंपी; विकास दुबे का बड़ा बेटा सामने आया; ग्वालियर-ठाणे से गैंगस्टर के 4 मददगार गिरफ्तार किए गए

गैंगस्टर विकास दुबे की गैंग के खिलाफ उत्तर प्रदेशपुलिस का ऑपरेशनजारी है। विकास के अंतिम संस्कार के बाद देर शाम उसकाबड़ा बेटा आकाश लखनऊ में अपनी दादी सरला देवी से मिलने पहुंचा,जिसके बाद उसे पुलिस अपने साथ ले गई। वहीं,राज्य सरकार ने इस मामले में एसआईटी को जांच के निर्देश दिए हैं। इसे एडिशनल चीफ सेक्रेटरी संजय भूसरेड्डी लीड करेंगे।

इस बीच,यूपी एसटीएफ ने ग्वालियर के रहने वाले दो लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोप है किविकासके फरार साथी शशिकांत और शिवम दुबे को इन लोगों ने पनाह दी थी। आरोपियों पर कानपुर में केस दर्ज है। इसके अलावा, महाराष्ट्र एटीएस ने 2 लोगों कोठाणे से गिरफ्तार किया है।

इनकी गिरफ्तारीहुई
यूपी एसटीएफ ने ग्वालियर सेओमप्रकाश और अनिल पांडेय नाम के दो लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोप है कि इन्होंने 8 पुलिसवालों की हत्याकांड में नामजद आरोपी शशिकांत और शिवम को अपने घररुकवाया था। खबर यह भी है कि एसटीएफ 4 जुलाई को ही इनको उठा ले गई थी, लेकिनग्वालियर पुलिस को इसकी सूचना शनिवार कोदी। हालांकि, ग्वालियर पुलिस ने अभी इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी है।

डरा-सहमा बेटा दादी से मिलने पहुंचा
लखनऊ में शुक्रवार देर रात विकास का बड़ा बेटा आकाशअचानक सामने आया। वहडरा-सहमा कृष्णानगर मेंदादी से मिलने पहुंचा था।वह मकान में दाखिल होता, इससे पहले ही उसे पुलिस पकड़कर ले गई। उसे विश्वास में लेकर पूछताछ की, फिरघर पर छोड़ दिया।बताया जाता है कि आकाशविदेश से एमबीबीएस कर रहा है। हालांकि, इसकी पुष्टि नहीं हो सकी है।

इससे पहले विकास की पत्नी ऋचा और छोटे बेटे को पुलिस ने हिरासत में लिया था। 16 घंटे बाद शुक्रवार को दोनोंको रिहा कर दिया था। देर रात ऋचा समेत पूरा परिवार कानपुर से लखनऊ स्थित घर लौट आया। इनमें से कोई भीमीडिया से कुछ भीबोलने को तैयार नहीं है।

विकास का खास गुर्गा गुड्‌डन और उसका ड्राइवर ठाणे से गिरफ्तार
विकास का खास गुर्गा अरविंद उर्फ गुड्डन रामविलास त्रिवेदी और उसका ड्राइवर सुशील कुमार उर्फ सोनू तिवारी ठाणे से गिरफ्तार किया किया है। शुक्रवार को महाराष्ट्र एटीएस प्रमुख दया नायक के नेतृत्व में टीम ने यहां कोलशेत रोड पर एक घर पर छापा मारा था। गुड्डन त्रिवेदी के बारे में कहा जाता है कि यह राजनीति में सक्रिय था और इसने विकास की कई बड़े नेताओं से मुलाकात करवाई थी। त्रिवेदी पर भी 2001 में यूपी के राज्यमंत्री संतोष शुक्ल की हत्या की साजिश का आरोप था।

विकास का साला राजू खुल्लर रिहा
विकास के साले राजू खुल्लर को भी यूपी एसटीएफ ने रिहा कर दिया है। एसटीएफ की प्रयागराज यूनिट ने राजू को मध्य प्रदेश के शहडोल से हिरासत में लिया था।विकास के संबंध में जानकारी जुटाने के लिए राजू से पूछताछ की गई।

राशन की दुकान से 7 जिंदा बम मिले थे
बिकरू गांव में शुक्रवार को तलाशी के दौरान पंचायत भवन मेंराशन की दुकान से7 जिंदा देशी बम बरामद हुए थे। इन्हेंडिफ्यूज कर दिया गया। यह दुकान विकास के नौकर दयाशंकर अग्निहोत्री के नाम थी। वह पहले ही गिरफ्तार कर लिया गया था। पुलिस ने गांव में मुनादी कराई कि यदि किसी के यहां असलहा, बम या अवैध सामान हो तो उसे 24 घंटे में पुलिस के हवाले कर दे। बाद में बरामद हुआ तो केस दर्ज किया जाएगा।

यह तस्वीर बिकरू गांव की है। यहां शुक्रवार को बम मिलने के बाद फिर से सर्च अभियान चलाया गया

21 नामजद में से 12 अभी भी फरार

अब तक विकास के करीबी प्रभात, बऊआ, अमर दुबे, प्रेम प्रकाश पांडे, अतुल दुबे का एनकाउंटर हो चुका है। नामजद में 21 आरोपियों में से12अभी भी फरार हैं। वहीं, चौबेपुर के एसओ रहे विनय तिवारी, दरोगा केके शर्मा समेत 12 लोगों की भीगिरफ्तारी हुईहै।

कानपुर के चौबेपुर थाना केबिकरू गांव में 2 जुलाई की रात गैंगस्टर विकास दुबे और उसकी गैंग ने 8 पुलिसवालों की हत्या कर दी थी। अगली सुबह से ही यूपी पुलिस विकास गैंग के सफाए में जुट गई। गुरुवार को उज्जैन के महाकाल मंदिर से सरेंडर के अंदाज में विकास की गिरफ्तारी हुई थी। शुक्रवारसुबह कानपुर से 17 किमी पहले पुलिस ने विकास को एनकाउंटर में मार गिराया।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
यह तस्वीर लखनऊ की है। दरवाजे पर खड़ा यह युवक गैंगस्टर विकास दुबे का बड़ा बेटा आकाश दुबे है। वह शुक्रवार की रात दादी से मिलने पहुंचा था। पुलिस ने पूछताछ के बाद उसे घर पर छोड़ दिया।

Powered by WPeMatico

%d bloggers like this: