रिलायंस ने लॉन्च किया वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग ऐप जियोमीट, एक साथ 100 पार्टिसिपेंट्स कर सकेंगे एचडी वीडियो कॉलिंग

11 सप्ताह में 11 निवेशकों से 1 लाख 17 हजार करोड़ रुपए से अधिक जुटाने के बाद जियो प्लेटफार्म्स ने गुरुवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग ऐप जियोमीट लॉन्च किया। यह गूगल प्ले और ऐप स्टोर पर उपलब्ध है। इसमें डायरेक्ट कॉल्स (1:1 कॉलिंग) सपोर्ट के अलावा 100 पार्टिसिपेंट्स के साथ मीटिंग की जा सकती है। ऐप पर मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी के जरिए साइन-अप किया जा सकता है।

जियोमीट में क्या-क्या सुविधाएं मिलेंगी?

  • जियोमीट यूजर को हाई डेफिनिशन (720 पिक्सल रेजोल्यूशन) में अनलिमिटेड फ्री कॉल करने की सुविधा देता है। इसमें एक बार में 100 पार्टिसिपेंट्स जोड़े जा सकते हैं।
  • यह पूरी तरह से फ्री है। सभी मीटिंग पासवर्ड प्रोटेक्टेड रहेंगी और इसमें जूम ऐप की तरह वेटिंग रूम सपोर्ट भी मिलता है।
  • कंपनी का कहना है कि ऐप मल्टी-डिवाइस (5 डिवाइस तक) लॉगिन सपोर्ट करता है, यूजर आसानी से कॉलिंग के दौरान एक से दूसरे डिवाइस में स्विच कर सकेंगे।

न कोड न इनवाइट की जरूरत

  • कॉल शुरू करने के लिए कोई कोड या इनवाइट की आवश्यकता नहीं होगी। हालांकि जो लोगों ऐप के डेस्कटॉप वर्जन से जुड़ रहे हैं, वे जियोमीट इनवाइट लिंक पर क्लिक कर ऐप डाउनलोड किए बिना अपने ब्राउज़र से वीडिया कॉल का हिस्सा बन सकते हैं। इसमें शेड्यूलिंग मीटिंग, एक-दूसरे के साथ स्क्रीन शेयर जैसे फीचर्स भी मिलते हैं।

जियोमीट ऑन डेक्सटॉप

  • वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग प्लेटफॉर्म को एंड्रॉयड और आईओएस फोन के अलावा डेस्कटॉप पर काम करने वाले यूजर्स गूगल क्रोम और मोज़िला फ़ायरफ़ॉक्स के जरिए एक्सेस कर सकते हैं। यह बिल्कुल फ्री है।

ऐसे कर सकते हैं डाउनलोड

  • मोबाइल डिवाइस पर – प्ले स्टोर/ ऐप स्टोर पर जाएं, जियोमीट ऐप सर्च कर इसे डाउनलोड करें।
  • डेस्कटॉप पर – इस साइट पर जाएं और जियोमीट एप्लिकेशन डाउनलोड करें।

क्या यह विश्वसनीयता प्रदान कर सकता है?

  • गृह मंत्रालय (एमएचए) ने जूम ऐप यूजर्स को चेतावनी दी थी कि ये ऐप उपयोग के लिए सुरक्षित नहीं है। इसके बाद भारत सरकार ने अप्रैल के अंत में एक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग ऐप को डेवलप करने के लिए इनोवेशन चैलेंज की घोषणा की थी। सरकार चाहती थी कि डेवलपर्स जूम ऐप का विकल्प तैयार करें। विजेता के लिए 1 करोड़ रुपए की प्राइज मनी रखी गई थी।
  • जियोमीट की आधिकारिक वेबसाइट पर दावा किया जा रहा है कि सभी मीटिंग एन्क्रिप्टेड रहेंगी। हालांकि जियोमीट अन्य लोकप्रिय वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग प्लेटफार्म जैसे कि ज़ूम और गूगल मीट को चुनौती देने के लिए तैयार रहना होगा।


Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
एंड्रॉयड और आईओएस फोन के अलावा डेस्कटॉप पर काम करने वाले यूजर्स गूगल क्रोम और मोज़िला फ़ायरफ़ॉक्स के जरिए जियोमीट को एक्सेस कर सकेंगे

Powered by WPeMatico

%d bloggers like this: