दाखिले के लिए खत्म हुआ 2 साल का इंतजार, योग-ध्यान से लेकर वीडियो फिक्शन जैसे 28 कोर्स की पढ़ाई इसी सत्र से

सांकरा में बनी प्रदेश की पहली आध्यात्मिक यूनिवर्सिटी ‘देव संस्कृति विश्वविद्यालय’ में इस शैक्षणिक सत्र से छात्रों को प्रवेश मिलने लगेगा। यहां योग, ध्यान-साधना से लेकर वीडियो फिक्शन जैसे 28 कोर्स की पढ़ाई कराई जाएगी। वैसे तो यूनिवर्सिटी 2018 में ही खुलने वाली थी। पर अलग-अलग वजहों के चलते 2 साल तक नहीं खुल सकी। अब जाकर विवि ने प्रवेश की प्रक्रिया शुरू कर दी है।
विश्वविद्यालय में फिलहाल मानव चेतना, योगा, अल्टरनेटिव थेरेपी, थियोलॉजी और साइकोलॉजी में डिप्लोमा के साथ यज्ञ, ध्यान-साधना और सत्संग जैसे कई महत्वपूर्ण विषयों को शामिल किया गया है। इसके अलावा बीएससी योग, बीएससी पर्यावरण विज्ञान के साथ बीकॉम, बीसीए, बीआरएस और स्नातकोत्तर कोर्स में एमसीए, एमएससी, एमबीए के साथ और पत्रकारिता जैसे कोर्स में भी एडमिशन होंगे। इस संबंध में शनिवार को कोर कमेटी की बैठक भी हुई। यहां तय किया गया कि विवि के संचालन के लिए एडमिनिस्ट्रेटिव विभाग, एक्जीक्यूटिव कमेटी और वित्त विभाग का गठन किया जाएगा। इस दौरान कोर ग्रुप कमेटी समेत ट्रस्ट मंडल के सदस्य भी मौजूद रहे।

54 कोर्स शुरू करने का प्लान, अभीरोजगारोन्मुखी विषयों को प्राथमिकता
शांतिकुंज, हरिद्वार की योजना के मुताबिक यहां 54 कोर्स में पढ़ाई कराई जानी है। शुरुआत में उन 28 विषयों को शामिल किया गया है जिनमें युवाओं को रोजगार मिलने की संभावना ज्यादा है। फिलहाल यहां छात्र रसायन, भौतिकी और गणित के साथ आयुर्वेद, गो पालन आदि की पढ़ाई कर सकेंगे। इसके अलावा यहां सूचना और प्रौद्योगिकी, थ्री-डी, विज्ञान तकनीक, एनिमेशन, पत्रकारिता, सामान्य पाठ्यक्रमों के साथ-साथ योग, धर्मशास्त्र, भारतीय दर्शन, वेद-पुराण, व्यक्तित्व विकास, सभ्यता और संस्कृति की पढ़ाई भी कराई जाएगी।

2005 से अब तक… गायत्री परिजनों ने ऐसे खड़ा किया विवि
देव संस्कृति विश्वविद्यालय खोलने के लिए 2005 में डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट शांतिकुंज, हरिद्वार को भेजी गई। राज्य सरकार ने राजनांदगांव में 10 एकड़ जमीन स्वीकृत की। निर्माण नहीं होने पर 2010 में यह जमीन दूसरे को दे दी गई। 2015 में गायत्री परिजन वासुदेव शर्मा ने सांकरा स्थित अपनी 25 एकड़ निजी जमीन विवि के लिए दान में दी। भवन बनाने प्रदेशभर के 7 हजार सदस्यों ने चंदा कर 8 करोड़ जुटाए। शांतिकुंज से भी आर्थिक मदद की गई। 2017 में तात्कालीन सीएम डॉ. रमन सिंह और गायत्री परिवार के प्रमुख डॉ. प्रणव पंड्या ने इसका उद्घाटन किया था।

100 छात्रों के रहने के लिए हॉस्टल भी बनकर तैयार
कुम्हारी के सांकरा में यूनिवर्सिटी के लिए बिल्डिंग बनकर तैयार है। प्रशासनिक अकादमी और छात्र-छात्राओं के लिए क्लास को मिलाकर इस भवन में 54 कमरे हैं। यहां पढ़ाई करने के लिए बाहर से आने वालों के लिए यूनिवर्सिटी कैंपस में ही छात्रावास भी बनाया गया है। छात्रावास में फिलहाल 100 स्टूडेंट्स को रखने की व्यवस्था की गई है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
The 2-year wait is over for admission, 28 courses from yoga-meditation to video fiction, from this session

Powered by WPeMatico

%d bloggers like this: