राष्ट्रविरोधी काम करने वालों की भारत में कोई जरूरत नहीं : विहिप

सरिया प्रखंड क्षेत्र के छत्रबाद में दो दिवसीय प्रवचन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। प्रवचन कार्यक्रम में चित्रकूट धाम से पधारे राष्ट्रीय प्रवक्ता महंत श्रीश्री 108 स्वामी सीताराम शरण जी महाराज ने संबोधित करते हुए कहा कि वर्तमान कोरोना संकट काल में भारत की अत्यधिक जनसंख्या के कारण संसाधनों का संकट उत्पन्न हो रहा है। भारत में पूरे विश्व का लगभग 18% जनसंख्या है, जबकि उसके अनुपात में भूभाग बहुत कम है।

सीमित संसाधनों के बाबजूद भी इस विपदा से लड़ने में भारत की सरकार और इसके नागरिकों के चिंतन, दृढ़ इच्छा शक्ति और संकल्प की आज सम्पूर्ण विश्व प्रशंसा कर रहा है। इतनी बड़ी संख्या में पीपीई किट, मास्क, वेंटिलेटर और अन्य चिकित्सा सुविधाओं का न केवल अपने लिए निर्माण किया है, अपितु अन्य देशों की सहायता भी की है। उन्होंने देश वासियों का आह्वान करते हुए कहा कि कोरोना वायरस पूरे विश्व को चीन ने दिया है। इस महामारी से हम एकजुट होकर, सरकार के निर्देशों का पूर्ण पालन करके और संसाधन युक्त नागरिकों द्वारा

जरूरतमंदों की सहायता के द्वारा पार पा रहे हैं। कोरोना संकट के समय तबलीगी जमात द्वारा संक्रमण फैलाने और विपक्षी दलों द्वारा षड्यंत्र कर श्रमिकों को पलायन करने के लिए उकसाने की भर्त्सना करते हुए उन्होंने कहा कि इस प्रकार के राष्ट्रविरोधी कार्यों की इस देश में जगह नहीं है। उन्होंने कहा कि चीन और पाकिस्तान की विस्तारवादी सोच के द्वारा उत्पन्न संकट का समाधान भारत के समस्त नागरिकों की एकजुटता और दृढ़ता ही है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

Powered by WPeMatico

%d bloggers like this: