Our website is made possible by displaying online advertisements to our visitors. Please consider supporting us by whitelisting our website.

5 महीने बाद मेट्रो चलेगी; दिल्ली में यलो लाइन की ट्रेनें चलेंगी, जयपुर में एक कोच में 50 लोग ही बैठ सकेंगे


देश में पांच महीने बाद सोमवार से मेट्रो सर्विस शुरू हो जाएगी। इसका फायदा दिल्ली, चेन्नई, बेंगलुरु, कोच्चि, हैदराबाद, जयपुर, नोएडा, लखनऊ, और अहमदाबाद के लोगों को मिलेगा। कोलकाता में मेट्रो 8 सितंबर से चलेगी। कोरोना की वजह से 25 मार्च को पूरे देश में ट्रेन सर्विस बंद कर दी गई थी। दिल्ली में 169 दिनों बाद मेट्रो सर्विस शुरू होगी। पहले यलो लाइन और रैपिड पर मेट्रो शुरू होगी। जयपुर मेट्रो के एक कोच में अधिकतम 50 लोग बैठ सकेंगे।

अनलॉक-4 में केंद्र सरकार ने 7 सितंबर से फेज वाइज मेट्रो शुरू करने का ऐलान किया था। इसके बाद 2 सितंबर को मेट्रो के लिए गाइडलाइंस जारी की गई थीं। इसके तहत, यात्रियों को फेस मास्क पहनने के साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग जैसे नियमों का पालन करना होगा। कंटेनमेंट जोन में आने वाले मेट्रो स्टेशन फिलहाल बंद ही रहेंगे। केवल स्मार्ट कार्ड से ही यात्रा कर सकेंगे। कैशलेस ट्रांजेक्शन होगा। इसके लिए ऑनलाइन ट्रांजेक्शन की अनुमति होगी।

दिल्ली: यात्री कम सामान लेकर चलें
दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) इसके लिए पिछले सात दिनों से तैयारी कर रहा है। रविवार को कोच की साफ-सफाई के साथ सैनिटाइजेशन किया गया। डीएमआरसी ने बताया कि मेट्रो स्टेशनों में किसी को भी बगैर मास्क के प्रवेश नहीं मिलेगा। अगर कोई मास्क लाना भूल गया है, तो स्टेशन पर पैसे देकर मास्क ले सकते हैं।

इसके अलावा, अगर कोई बीमार है या संक्रमण के हल्के लक्षण हैं, तो उसे एंट्री नहीं मिलेगी। उधर, दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) ने राजधानी के लोगों से जरूरी होने पर ही सफर करने और यात्रा के दौरान कम बातचीत करने की अपील की है।

इन चीजों का ध्यान रखें

  • कम सामान के साथ यात्रा करें। स्टेशन पर फास्ट एंट्री के लिए मेटल से बने कम से कम सामान लेकर चले।
  • यात्री अपने साथ सिर्फ 30 एमएम की पॉकेट साइज हैंड सैनिटाइजर बॉटल ही रख सकेंगे। इससे ज्यादा की अनुमति नहीं होगी।
  • पीक अवर्स में भीड़ से बचने के लिए अपने ऑफिस टाइम को एडजस्ट करें। कोशिश करें कि पीक अवर्स से पहले ऑफिस के लिए निकलें और लौटें।
  • दिल्ली के 45 स्टेशनों पर ऑटो थर्मल के साथ हैंड सैनिटाइजेशन मशीनों का इंतजाम किया गया है। बाकी मेट्रो स्टेशन पर ऑटो सैनिटाइजर डिस्पेंसर्स लगे होंगे। इसके अलावा थर्मल स्क्रीनिंग मैनुअली की जाएगी।
यह फोटो दिल्ली के खैबर पास यार्ड की है। यहां रविवार को मेट्रो ट्रेनों की सफाई और सैनिटाइज किया गया।

जयपुर: एक कोच में 50 लोग बैठ सकेंगे
जयपुर मेट्रो के एक कोच में अधिकतम 50 लोग बैठ सकेंगे। रात 10 बजे आखिरी ट्रेन चलेगी। सफर के दौरान यात्री रेड क्रॉस लगी सीट पर नहीं बैठ सकेंगे। एसी का तापमान 24 से 28 डिग्री के बीच ही रखा जाएगा। लिफ्ट की अपेक्षा सीढ़ी का यूज करना होगा।

चेन्नई: एक कोच में 7 सीटर बेंच पर 3 लोग बैठ सकेंगे
चेन्नई में मेट्रो ट्रेन के एक कोच में 7 सीटर बेंच पर केवल तीन लोगों को बैठने की अनुमति होगी। एक बार में केवल 4 लोग ही एसकेलेटर यूज कर पाएंगे। मेट्रो स्टेशन में एंट्री से पहले सभी की थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी। इसके लिए एक हजार से ज्यादा वॉलेंटियर्स तैनात किए जाएंगे। पीक टाइम पर हर 10 मिनट में और नॉन पीक टाइम में हर 15 मिनट में मेट्रो ट्रेन चलाने का फैसला किया गया है। चेन्नई मेट्रो रेल लिमिटेड ने फुट ऑपरेटेड लिफ्ट की व्यवस्था की है। इससे एलिवेटर बटन को नहीं दबाना पड़ेगा।

यह फोटो चेन्नई की है। यहां के मेट्रो स्टेशंस पर ट्रेवल कार्ड के लिए मशीन लगाई गई हैं।

बेंगलुरु: ट्रेनें पांच मिनट के गैप से चलेंगी
बेंगलुरु मेट्रो रेल कॉरपोरेशन के मुताबिक, मेट्रो ट्रेन सुबह 8 बजे से 11 बजे और फिर शाम 4.30 बजे से 7.30 बजे तक चलेंगी। ट्रेनें पांच मिनट के अंतराल पर चलेंगी। इसके अलावा, 11 सितंबर से सभी लाइनों पर मेट्रो रेल सुबह सात बजे से रात 9 बजे तक चलेगी।

यह फोटो बेंगलुरु के मेट्रो स्टेशन की है। यहां लोगों की जांच के लिए हैंड फ्री थर्मल स्कैनर लगाए गए हैं।

कोलकाता: 8 सितंबर से शुरू होगी मेट्रो
कोलकाता में 8 सितंबर से अलग-अलग फेज में मेट्रो ट्रेन चलाई जाएगी। टोकन की व्यवस्था नहीं होगी। पहले से जिनके पास स्मार्ट कार्ड होंगे, वही यात्रा कर सकेंगे। नया स्मार्ट कार्ड फिलहाल नहीं जारी किया जाएगा। स्मार्ट कार्ड को ऑनलाइन रिचार्ज कराया जा सकेगा। जो ऑनलाइन नहीं कर पाते हैं, वो काउंटर पर रिचार्ज करवा सकेंगे।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


After 5 months metro services resumes in india Delhi, jaipur, lucknow

Powered by WPeMatico

%d bloggers like this: