Our website is made possible by displaying online advertisements to our visitors. Please consider supporting us by whitelisting our website.

ब्रिटेन में कोरोना से जुड़ी पाबंदियां सख्त, संक्रमित मिलने के बावजूद सेल्फ आइसोलेट न होने पर 9.56 लाख रु. का जुर्माना; दुनिया में 3.09 करोड़ केस


दुनिया में संक्रमितों का आंकड़ा 3.10 करोड़ से ज्यादा हो गया है। शनिवार को 2 लाख 13 हजार से ज्यादा मामले सामने आए। ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 2 करोड़ 26 लाख 54 हजार 185 से ज्यादा हो चुकी है। वहीं, अब तक 9 लाख 62 हजार 553 मौतें हो चुकी हैं। ये आंकड़े worldometers.info/coronavirus के मुताबिक हैं।

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने शनिवार से देश में कोरोना से जुड़ी नई पाबंदियों का ऐलान किया। देश में संक्रमण की दूसरी लहर शुरू हो चुकी है। इसके बाद भी लोग सरकार की ओर से जारी गाइडलाइन्स नहीं मान रहे हैं। यही वजह है कि पाबंदियां सख्त की गई हैं। पॉजिटिव आने के बावजूद सेल्फ आइसोलेशन में नहीं जाने वाले लोगों पर 13 हजार डॉलर (करीब 9.56 लाख रु.) का जुर्माना लगाया जाएगा।

विदेश से लौटने के बाद क्वारैंटाइन में रहने के नियम तोड़ने पर लगने वाले जुर्माने की रकम भी बढ़ा दी गई है। जॉनसन ने कहा है कि जो लोग वर्क फ्रॉम होम नहीं कर सकते और महामारी की वजह से घर पर बैठने को मजबूर हैं, उन्हें सरकार की ओर से 500 पाउंड (करीब 47 हजार रु.) दिए जाएंगे।

इन 10 देशों में कोरोना का असर सबसे ज्यादा

देश

संक्रमित मौतें ठीक हुए
अमेरिका 69,67,420 2,03,828 42,23,693
भारत 54,05,252 86,796 43,03,043
ब्राजील 45,28,347 1,36,565 38,20,095
रूस 11,03,399 19,418 9,09,357
पेरू 7,62,865 31,369 6,07,837
कोलंबिया 7,58,398 24,039 6,27,685
मैक्सिको 6,94,121 73,258 4,96,224
साउथ अफ्रीका 6,59,656 15,940 5,89,434
स्पेन 6,57,627 15,940 उपलब्ध नहीं
अर्जेंटीना 6,22,934 12,799 4,78,077

हॉन्गकॉन्ग ने 3 अक्टूबर तक एयर इंडिया की उड़ानों पर रोक लगाई

एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने रविवार को कहा कि हॉन्गकॉन्ग ने रविवार से 3 अक्टूबर तक एयर इंडिया की उड़ानों पर प्रतिबंध लगा दिया है, क्योंकि शुक्रवार को फ्लाइट में कुछ यात्री संक्रमित मिले थे। इससे पहले भी एयर इंडिया की उड़ानों को 18 अगस्त से 31 अगस्त के बीच हॉन्गकॉन्ग में उतरने से रोका गया था। 14 अगस्त को दिल्ली से हॉन्गकॉन्ग जाने वाली फ्लाइट में 14 यात्री पॉजिटिव मिले थे।

चीन: देश में संक्रमण की पांचवी लहर की चेतावनी

चाइनीज सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के महामारी विशेषज्ञ वु जुनयोउ ने चेतावनी दी है कि चीन में कोरोना संक्रमण की पांचवी लहर शुरू हो गई है। सर्दियों में हमें और सतर्क रहने की जरूरत है। चीन में अब तक 85 हजार 279 मामले सामने आए हैं और 4634 मौतें हुई हैं। देश में शिनजियांग राज्य में बीते कुछ हफ्तों से नए मामले सामने आ रहे हैं। हालांकि, इनमें घरेलू ट्रांसमिशन के मामले कम हैं।

चीन में एक स्पा सेंटर को डिसइन्फेक्ट करता स्टाफ। एक्सपर्ट्स के मुताबिक, सर्दियों के मौसम में देश में कोरोना की स्थिति और खराब हो सकती है।

फ्रांस: सरकार की परेशानी और बढ़ते केस
एमैनुएल मैक्रों सरकार के सामने नई परेशानी खड़ी हो गई है। एक तरफ मामले बढ़ रहे हैं और दूसरी तरफ सरकार के संभावित प्रतिबंधों का विरोध शुरू हो गया है। शनिवार को 13 हजार 498 नए मामले सामने आए। हेल्थ मिनिस्ट्री के एक ऑफिसर ने कहा- राष्ट्रपति पिछले हफ्ते कह चुके हैं कि लॉकडाउन या इस जैसे दूसरे प्रतिबंध नहीं लगाए जाएंगे, लेकिन हालात को देखते हुए हमें प्रतिबंधों पर विचार करना होगा।

क्योंकि, इसके अलावा कोई और विकल्प फिलहाल नहीं है। वैक्सीन का इंतजार लंबा हो सकता है। अगर वैक्सीन आ भी जाती है तो यह फौरन सभी को नहीं लगाई जा सकेगी। फ्रांस में हालात तेजी से बिगड़ रहे हैं। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि सरकार यहां कुछ सख्त पाबंदियां लगाने पर विचार कर रही है।

ब्रिटेन: पाबंदियों का विरोध करने पर 30 गिरफ्तार

प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने देश में संक्रमण की दूसरी लहर शुरू होने के बावजूद लॉकडाउन की संभावनाओं से इनकार किया है। उन्होंने कहा- हम हालात को मार्च या अप्रैल की तरह न होने दें। ब्रिटेन में संक्रमण के दूसरे दौर को देखते हुए कुछ प्रतिबंध लगा दिए गए हैं। हालांकि, इनका विरोध भी हो रहा है। शनिवार को प्रतिबंधों का विरोध करने पर 30 लोगों का गिरफ्तार भी किया गया। देश में फिलहाल मास्क लगाना जरूरी कर दिया गया है। एक जगह पर छह से ज्यादा लोगों के जुटने पर भी पाबंदी है।

नॉर्थ ईस्ट इंग्लैंड में लोग म्यूजिक कन्सर्ट का लुत्फ उठाते उठाते हुए।

इजराइल: लॉकडाउन का विरोध जारी
इजराइल में नेतन्याहू सरकार के लिए मुसीबत खड़ी हो गई है। सरकार ने संक्रमण पर काबू पाने के लिए देश के कुछ हिस्सों में लॉकडाउन लगाया है, लेकिन लोग इसका पालन करने को तैयार नहीं हैं। अलजजीरा की एक रिपोर्ट के मुताबिक, इजराइल के कई शहरों में लोगों ने लॉकडाउन के खिलाफ प्रदर्शन किए। इन लोगों का आरोप है कि मार्च के बाद से उनकी जिंदगी पर बुरा असर पड़ा है।

कुछ सामाजिक संगठनों ने कहा है कि सरकार अपनी नाकामी का ठीकरा देश के लोगों पर फोड़ना चाहती है। सरकार ने शुक्रवार से तीन हफ्ते के लॉकडाउन का ऐलान किया है। इसी दौरान यहूदियों का नया साल रोश हाशना मनाया जा रहा है। इसकी वजह से लोग ज्यादा नाराज हैं।

इजराइल में सरकार ने तीन हफ्ते का लॉकडाउन लगाया है, लेकिन लोग इसका विरोध कर रहे हैं। शनिवार को तेल अवीव में पुलिस ने लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों को समझाया।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


लंदन में एक महिला को महामारी से बचने के उपायों के बारे में बताती स्वास्थ्यकर्मी। देश में संक्रमण के बढ़ते मामले के बावजूद लोग सरकारी गाइडलाइन्स नहीं मान रहे।

Powered by WPeMatico

%d bloggers like this: