Our website is made possible by displaying online advertisements to our visitors. Please consider supporting us by whitelisting our website.

कोरोनावायरस से अमेरिका में अल्पसंख्यकों के बच्चों पर बड़ा खतरा, गोरों के मुकाबले ब्लैक और हिस्पियन बच्चों की अधिक मौतें हुईं , CDC की रिसर्च में दावा


अमेरिका में अश्वेत और हिस्पियन बच्चों को कोरोना से मौत का खतरा ज्यादा है। अमेरिका की सबसे बड़ी स्वास्थ्य एजेंसी सेंटर्स फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDC) के मुताबिक, मौत का सबसे ज्यादा खतरा ऐसे 21 साल से कम उम्र के बच्चों को है।

CDC की रिसर्च कहती है, 12 फरवरी से लेकर 31 जुलाई तक कोरोना से 121 ऐसे बच्चों की मौत हुई जिनकी उम्र 21 साल से कम थी। इन 121 में से मात्र 17 श्वेत थे। वहीं, 35 अश्वेत और 54 हिस्पेनिक बच्चे थे।

कोरोना से कुल होने वाली मौतों में 75 फीसदी तक यही उम्र वर्ग शामिल है। 47 राज्यों के डाटा पर रिसर्च की करने के बाद यह रिपोर्ट जारी की गई है।

किस उम्र के बच्चों की मौत अधिक, ऐसे समझें
सीडीसी ने कोरोना से होने वाली बच्चों की कुल मौत के आंकड़े को उम्रवार समझाया है। इसके मुताबिक, एक साल से कम उम्र वाले बच्चों के मौत का आंकड़ा 10 फीसदी है। 1 से 9 साल तक के उम्र वाले बच्चों में यह आंकड़ा 20 फीसदी है। इसके अलावा सबसे ज्यादा खतरा 10 से 20 साल वालों को है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Coronavirus Threat To Minority Children In USA; According US Centers for Disease Control and Prevention (CDC) Latest Report

Powered by WPeMatico

%d bloggers like this: