Our website is made possible by displaying online advertisements to our visitors. Please consider supporting us by whitelisting our website.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पूर्व अफसर का हाल जाना, बोले- ऐसे हमले बर्दाश्त नहीं; रिटायर्ड अफसर की बेटी बोलीं- आरोपियों पर हत्या की कोशिश का केस दर्ज हो


मुंबई के कांदिवली ईस्ट में शुक्रवार को रिटायर्ड नेवी ऑफिसर मदन शर्मा से मारपीट के मामले में गिरफ्तार 6 शिवसैनिकों को 12 घंटे के अंदर ही छोड़ दिया गया। उधर, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी नेवी अफसर पर हमले की निंदा की। उन्होंने ट्वीट किया, “मुंबई में गुंडों के हमले के शिकार रिटायर्ड अफसर से बात कर उनका हाल जाना। मैं उनके जल्द स्वस्थ होने की प्रार्थना करता हूं। पूर्व सैनिकों पर ऐसे हमले बर्दाश्त नहीं किए जा सकते हैं।”

इस बीच मदन शर्मा की बेटी ने शीला ने कहा है कि आरोपियों पर हत्या की कोशिश का केस दर्ज होना चाहिए। यहां इंसानियत नाम की कोई चीज नहीं रह गई है। महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगना चाहिए।

शीला ने कहा, ‘‘मैं इस घटना से बेहद दुखी हूं। आरोपियों को कड़ी सजा मिलनी चाहिए, वरना ये फिर से इसी तरह की हरकतों को अंजाम दे सकते हैं।’’ शीला ने बताया कि फोन पर धमकियों के बाद शिवसैनिक उनके घर आए। शिवसैनिकों ने उनके पिता को बात करने के बहाने नीचे बुलाया और मारपीट की। उन्होंने यह भी कहा है कि शिवसेना के लोग सत्ता का गलत इस्तेमाल कर रहे हैं।

इस बीच 65 साल के पूर्व नेवी ऑफिसर ने कहा कि घटना के 45 मिनट बाद उलटे पुलिस उन्हें ही गिरफ्तार करने पहुंची थी। उन्होंने कहा कि मैंने अपनी पूरी जिंदगी देश के लिए काम किया है। इस तरह की सरकार का अस्तित्व नहीं होना चाहिए। उन्होंने सुरक्षा की मांग करते हुए कहा कि अगर सरकार से कानून व्यवस्था न संभल रही हो, तो उसे इस्तीफा नहीं दे देना चाहिए।

पुलिस स्टेशन से ही मिल गई जमानत
सभी पर जमानती धाराएं लगाई गई थी, इसी आधार पर इन्हें पुलिस स्टेशन से ही जमानत दे दी गई। इनमें शिवसेना के शाखा प्रमुख कमलेश कदम और पदाधिकारी संजय मांजरे भी शामिल हैं। शर्मा की शिकायत पर समता नगर पुलिस स्टेशन में छह नामजद और दो अज्ञात लोगों पर एफआईआर दर्ज हुई है।

बेटे ने कहा- परिवार को भी जान का खतरा
मदन शर्मा के बेटे सनी शर्मा ने कहा कि वे मुंबई में पैदा हुए और यहीं उनकी जिंदगी बीती है। उन्होंने आरोप लगाया कि नॉर्थ इंडियन होने की वजह से उनके पिता के साथ मारपीट की गई। शिवसैनिकों ने उम्र का लिहाज भी नहीं किया। अब उन्हें डर लगने लगा है कि आगे भी उनके और उनके परिवार के साथ ऐसी घटनाएं हो सकती हैं।

रतन राजपूत ने जताई निराशा
रतन राजपूत ने इंस्टाग्राम पर पोस्ट कर इस घटना के प्रति निराशा जताई है। रतन ने इसे शर्मनाक, डरावना और निराशाजनक बताते हुए लिखा- काश, आज हमारे बीच श्री बालासाहेब ठाकरे जी होते।’’ इसी के साथ उन्होंने रियल टाइगर को मिस करने की बात लिखी है।

फडणवीस ने कहा- गुंडा राज रोकिए उद्धव जी
महाराष्ट्र के पूर्व सीएम और बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस ने उद्धव ठाकरे सरकार पर ट्वीट कर हमला बोला। फडणवीस ने कहा, “काफी दुखद और अचंभित करने वाली घटना। रिटायर्ड नेवी ऑफिसर की सिर्फ इसलिए पिटाई की गई, क्योंकि वॉट्सऐप पर फॉरवर्ड किया था। कृपया गुंडाराज रोकिए उद्धव जी। हम ऐसे गुंडों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई और सजा की मांग करते हैं।”

क्या है पूरा मामला
मुंबई के कांदिवली इलाके में रहने वाले रिटायर्ड नेवल ऑफिसर मदन शर्मा ने गुरुवार को एक कार्टून को वॉट्सऐप पर फॉरवर्ड किया था। इसमें सीएम उद्धव ठाकरे, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राकांपा प्रमुख शरद पवार के स्केच बने थे। इसके बाद शिवसैनिकों ने उनके घर पर ही हमला बोल दिया था और उनके साथ मारपीट की थी। इसमें उन्हें गंभीर चोटें आईं थीं, जिसके बाद उनका मुंबई के सरोजनी हॉस्पिटल में इलाज जारी है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


रिटायर्ड नेवी ऑफिसर मदन शर्मा की शिकायत पर समता नगर पुलिस स्टेशन में 6 नामजद और 2 अज्ञात लोगों पर एफआईआर दर्ज हुई है।

Powered by WPeMatico

%d bloggers like this: