Our website is made possible by displaying online advertisements to our visitors. Please consider supporting us by whitelisting our website.

बाढ़ प्रभावित इलाकों में पहुंचे रायगढ़ पुलिस के अफसर और जवान, 48 गांवों के 450 परिवारों तक पहुंचाई मदद


कानून व्यवस्था संभालने वाली रायगढ़ पुलिस अपनी ड्यूटी से आगे जाकर अपना फर्ज निभा रही है। पुलिस ने संवेदना अभियान शुरू किया है। इसके तहत महानदी के तटिय क्षेत्र में बाढ़ की जद में आए ग्रामीणों की मदद की जा रही है। थाना पुसौर, सरिया, सारंगढ़ व कोसीर क्षेत्र के दर्जनों गांव ज्यादा प्रभावित हुये हैं। कलेक्टर भीम सिंह और पुलिस अधीक्षक संतोष सिंह ने राहत शिविरों में जाकर व्यवस्थाओं की जानकारी ली और सुविधाओं को बढाने का निर्देश दिए थे। अब रायगढ़ पुलिस की टीम जिले में कोरोना संकट के बीच आई प्राकृतिक आपदा से लोगों को बचाने के काम में जुट गई है।

मदद के दौरान एसपी हुए संक्रमित लेकिन मिशन नहीं रुका

फोटो रायगढ़ एसपी संतोष सिंह की है। इस वक्त वो कोरोना से संक्रमित हैं और आईसोलेटेड हैं, मगर वीडियो कॉल के जरिए राहत बचाव कार्य की जानकारी ले रहे हैं।
फोटो रायगढ़ एसपी संतोष सिंह की है। इस वक्त वो कोरोना से संक्रमित हैं और आईसोलेटेड हैं, मगर वीडियो कॉल के जरिए राहत बचाव कार्य की जानकारी ले रहे हैं।

पिछले कुछ दिनों से रायगढ़ पुलिस की टीम बाढ़ प्रभावित इलाकों में काम कर रही है। पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह ने खुद ग्रामीण इलाकों में जाकर लोगों से मिलकर उनकी समस्या सुनी और हर मुमकिन मदद का भरोसा दिया था। इस बीच एसपी खुद कोरोना पॉजिटिव हो गए। फिलहाल संतोष सिंह आईसोलेशन में हैं। दूसरी तरफ पुलिस टीम मदद पहुंचाने के काम को जारी रखे हुए है। अब एसपी वीडियो कॉल के माध्यम से इस मिशन से जुड़कर जरुरी निर्देश दे रहे हैं।

एक रात में किया गाड़ियों का इंतेजाम और पहुंचाई मदद

फोटो रायगढ़ की है। यह लाइन थाने में शिकायत करने नहीं बल्कि राहत सामग्री लेने के लिए लगी है। पुलिस ने लोगों तक जरुरत का हर सामान पहुंचाने की कामयाब कोशिश की है।
फोटो रायगढ़ की है। यह लाइन थाने में शिकायत करने नहीं बल्कि राहत सामग्री लेने के लिए लगी है। पुलिस ने लोगों तक जरुरत का हर सामान पहुंचाने की कामयाब कोशिश की है।

एसपी के निर्देशों पर एडिशनल एसपी अभिषेक वर्मा ने अन्य अधिकारियों के साथ मिलकर बीती रात पीकअप वाहन और ट्रक का बंदोबस्त किया। ये गाड़ियां कापू, धरमजयगढ़, लैलूंगा से राहत सामग्री लेकर पुसौर, सरिया, सारंगढ़, कोसीर थाना इलाके में पहुंचीं। बाढ़ पीडितों में कंबल, लूंगी, धोती, गमछा, साड़ी, एलवेस्टर/टिन शेड, तिरपाल, सीमेंट, जूता चप्पल, रेडीमेड कपड़े , बांस, बर्तन , बाल्टी, मग, गद्दा , चटाई, मच्छरदानी, चादरें साबुन, डिटरजेंट, टॉर्च व राशन बांटा गया है।

फोटो रायगढ़ की है, पुलिस इस तरह से एक जगह से राहत का सामान जुररत मंदों तक पहुंचाने के मिशन में काम कर रही है।
फोटो रायगढ़ की है, पुलिस इस तरह से एक जगह से राहत का सामान जुररत मंदों तक पहुंचाने के मिशन में काम कर रही है।

सरिया के 21 गांव के 217 परिवार, पुसौर के 13 गांव के 133 परिवार, कोसीर के 9 गांव के 51 परिवार एवं सारंगढ क्षेत्र के 5 गांव 50 परिवारों को राहत सामग्री दी गई है। ग्राम सिलाड़ी के लोगों ने बताया कि पुलिस ने बुजुर्गों से लेकर बच्चों तक के लिए सामान दिए और लोगों को राहत कैंप में पहुंचाया। ग्राम बाराडोली की महिला ने बताया कि वो गांव में अकेली ही रहती थी, नाव के जरिए उसे बाहर निकाला गया और अब जरुररत की चीजें मिलीं। पुलिस की यह मदद उसे जिंदगी भर याद रहेगी। एएसपी अभिषेक वर्मा ने बताया कि यह ऑपरेशन जारी रहेगा, जहां भी जरुरत होगी टीम मदद पहुंचाएगी।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


फोटो रायगढ़ की है। लॉकडाउन के दौरान भी पुलिस ने कई लोगों तक मदद पहुंचाई थी, बाढ़ की वजह से अफसरों एक बार फिर इंसानियत की मिसाल पेश की।

Powered by WPeMatico

%d bloggers like this: