Our website is made possible by displaying online advertisements to our visitors. Please consider supporting us by whitelisting our website.

कन्हैया सीटी वाले के नाम से मशहूर है रायपुर का ये सफाईकर्मी, लड़खड़ाती जुबान से देता है कोरोना से बचने का संदेश


यूं तो कोरोना के खिलाफ इस जंग में कई वॉरियर्स की कहानी देखने, सुनने को मिल जाती हैं। मगर कन्हैया का जज्बा, आम लोगों को महामारी के इस दौर में कुछ पॉजिटिविटी देता है। इस सफाई कर्मी को लोग कन्हैया सीटी वाला के नाम से जानते हैं। यह अपनी रिक्शा लेकर सुबह-सुबह पूरे जोश में सीटी बजाते हुए घरों से कचरा इकट्‌ठा करता है।

लॉकडाउन से लेकर अब तक बिना अपनी परवाह किए कन्हैया ऐसे ही मुस्कुराकर लोगों से घरों का कचरा लेकर जाता है। कोरोना महामारी में सफाई सबसे अहम हिस्सा है। सामान्य लोगों की तरह बोलने और चलने में अक्षम कन्हैया अपनी सीटी से हर रोज कोरोना जैसी खतरनाक बीमारी को अपनी पॉजिटिव स्माइल के साथ टक्कर देने में सक्षम है।

लोगों से कहता है मास्क लगाओ
कई बार जब लोग घरों से डस्टबिन लिए बिना मास्क लगाए बाहर आते हैं तो लड़खड़ाती जुबान में कन्हैया उन्हें मास्क लगाने के लिए कह देता है। बीमारी से बचने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग जरुरी है, इस लिए दूर से ही लोगों के संपर्क में बिना आए काम करता है। सफाईकर्मी कन्हैया की भागदौड़ की शुरुआत सूरज निकलने के पहले ही शुरु हो जाती है। टाटीबंद से लगे कबीर नगर के लगभग 200 घरों का कचरा उठाता है। सुबह 7 बजे से दोपहर 2 बजे तक अपनी डयूटी में वह पूरी ईमानदारी करता है। लड़खड़ाती जुबान और चाल उसकी जिंदगी का हिस्सा हो चुके हैं।

मां करती है मजदूरी
बचपन में ही पिता का साया उठ जाने के बाद महज 14 साल की उम्र से ही कन्हैया काम कर रहा है। वह कहता है कि कोई किसी का साथ नहीं देता, अपनी मेहनत और स्वाभिमान ही सब कुछ है। पिताजी के रहते उसने पांचवीं तक पढ़ाई की, लेकिन उनकी मौत के बाद उसे मजबूरन काम करना पड़ा। घर में उसकी मां है, जो मजदूरी करती है। एक छोटा भाई और बहन भी है जो घर पर ही रहते हैं। कन्हैया ने बताया कि उसे उसका काम पसंद है। कोरोना संक्रमण के पहले सीटी की आवाज सुनकर लोग घरों के बाहर आते थे, कचरा रिक्शा में डालने के साथ कुछ बात भी कर लिया करते थे। मग अब ऐसा नहीं है। लोग चुपचाप रिक्शे में कचरा डालकर घर में चले जाते हैं, मगर इससे कोई परेशानी नहीं है। मैं अपना काम करता रहूंगा।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


फोटो रायपुर की है। कन्हैया स्पीच डिस्ऑर्डर से ग्रसित है, बावजूद इसके कोरोना के खिलाफ जंग में इसी मुस्कान के साथ अपना योगदान देता है।

Powered by WPeMatico

%d bloggers like this: