Our website is made possible by displaying online advertisements to our visitors. Please consider supporting us by whitelisting our website.

पाकिस्तान के पूर्व गेंदबाज अख्तर ने कहा- कोहली 10 साल पहले मेरे जैसे बिगड़ैल थे, लेकिन टीम मैनेजमेंट के सपोर्ट से बड़े खिलाड़ी बन गए


पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने एक बार फिर टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली की तारीफ की है। उन्होंने कहा कि आज से 10 साल पहले विराट मेरे जैसे ही बिगड़ैल थे। लेकिन टीम मैनेजमेंट के सपोर्ट के चलते वे बड़े खिलाड़ी बन गए। अख्तर ने यू ट्यूब शो क्रिकेटबाज में यह बात कही।

अख्तर ने कहा कि आज विराट बिल्कुल अलग लेवल पर पहुंच गए हैं। लेकिन ब्रांड विराट के पीछे कौन है?। वे 2010 में कहीं नहीं थे। लेकिन टीम मैनेजमेंट ने उनके टैलेंट को पहचाना और सपोर्ट किया। कोहली को खुद भी यह यकीन हुआ कि उनकी इज्जत दांव पर है। ऐसे में उन्होंने अपना पूरा ध्यान खेल पर लगाया।

कोहली ने जो हासिल किया, उसे कम करके नहीं आंका जा सकता: अख्तर

उन्होंने सचिन तेंदुलकर से कोहली की तुलना करने को लेकर कहा कि मौजूदा भारतीय कप्तान ने अपना क्रिकेट ऐसे दौर में खेला है, जब बल्लेबाज के सामने इतनी चुनौतियां नहीं हैं। लेकिन फिर भी कोहली ने जो हासिल किया है, उससे कम करके नहीं आंका जा सकता है। वे तेंदुलकर (18426) के बाद वनडे में सबसे ज्यादा 11867 रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं। वहीं, टी-20 में वे सबसे ज्यादा 2794 रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं।

विराट ने 334 मैच में 70 शतक लगाए हैं
तेंदुलकर ने 100 इंटरनेशनल शतक लगाने के लिए कुल 663 मैच (463 वनडे, 200 टेस्ट) खेले हैं, जबकि विराट ने 334 मैच (248 वनडे, 86 टेस्ट) में 70 शतक लगाए हैं। भारतीय कप्तान ने टेस्ट में 27 और वनडे में 43 शतक लगाए हैं। वहीं, तेंदुलकर के टेस्ट में 51 और वनडे में 49 शतक हैं। अगर रनों की बात करें, तो सचिन ने टेस्ट में 15921 और वनडे में 18426 रन बनाए हैं। जबकि कोहली टेस्ट में 7240 और वनडे में 11867 रन बना चुके हैं।

भारतीय खिलाड़ियों की तारीफ करने पर अख्तर की आलोचना हुई थी

पिछले हफ्ते भारतीय क्रिकेटरों की तारीफ करने की वजह से अख्तर की पाकिस्तान में काफी आलोचना की गई थी। तब उन्होंने कहा था कि आलोचना करने वाले को यह स्वीकार करना चाहिए की भारतीय कप्तान विराट कोहली दुनिया के टॉप बल्लेबाजों में से एक हैं और वे तारीफ के हकदार हैं। मैं अच्छे खिलाड़ी और टीम की तारीफ क्यों नहीं कर सकता?

कोहली भारतीय हैं, क्या इसलिए तारीफ नहीं कर सकते?
शोएब ने कहा कि मैं भारतीय खिलाड़ियों की भी आलोचना करता हूं। लेकिन कोहली के अगर 12 हजार रन हैं और रोहित शर्मा वनडे में तीन दोहरे शतक लगा चुके हैं, तो आप ऐसे खिलाड़ियों को क्या कहेंगे? मुझे नहीं पता कि लोग क्यों नाराज हैं, उन्हें मेरी आलोचना करने से पहले आंकड़े देखना चाहिए। क्या वे नफरत को ध्यान में रखना चाहते हैं या सिर्फ इसलिए कि वे (कोहली) एक भारतीय हैं, इसलिए हम उनकी तारीफ नहीं करेंगे? अगर किसी को कोहली की क्षमताओं के बारे में किसी तरह का शक है, तो वह आंकड़ों की जांच कर लें।

कोहली अभी आईपीएल खेलने के लिए यूएई में हैं। वे इस साल के शुरुआत में न्यूजीलैंड दौरे के बाद पहला कॉम्पीटिटिव क्रिकेट टूर्नामेंट खेलेंगे। आईपीएल 19 सितंबर से 10 नवंबर तक चलेगा।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


विराट कोहली ने 334 मैच (248 वनडे, 86 टेस्ट) में 70 शतक लगाए हैं। भारतीय कप्तान के टेस्ट में 27 और वनडे में 43 शतक हैं। -फाइल

Powered by WPeMatico

%d bloggers like this: