Our website is made possible by displaying online advertisements to our visitors. Please consider supporting us by whitelisting our website.

बूढ़ा तालाब में 10 हजार स्क्वॉयर फीट में बनेगा मछली घर, गुफा शेप में होगा


नगर निगम और स्मार्ट सिटी की ओर से शहर के बीचों-बीच बने बूढ़ा तालाब के रिनोवेशन का काम किया जा रहा है। यहां की सुंदरता बढ़ाने और शहर वासियाें को फॉरेन और मेट्रोसिटीज का अहसास दिलाने के मकसद से कई तरह के इनोवेशन भी किए जा रहे हैं। लोगों को एंटरटेनमेंट के कई ऑप्शन देने की कोशिश की जा रही है। इसी के तहत लगभग 10 हजार स्क्वायर फीट में मछली घर यानि की फिश एक्वेरियम बनाने की तैयारी चल रही है। एक्वेरियम की डिजाइन और ड्राइंग को बना लिया गया है, मछली घर को गुफा के शेप का बनाया जाएगा। इसे बनाने में लगभग 8 करोड़ की लागत आएगी। ये सप्रे स्कूल के पीछे रहेगा। प्रदेश का पहला मछली घर बनाने में लगभग चार महीने का समय लगेगा।

देश में बने मछली घरों से जुटा रहे जानकारी
महापौर एजाज ढेबर ने बताया कि राजधानी को पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित करने और शहर वासियों को फॉरेन और मेट्रोसिटीज जैसी एंटरटेनमेंट की सुविधा देने का प्रयास किया जा रहा है। इसी के तहत मछली घर बनाने की प्लानिंग की गई है। स्मार्ट सिटी की टीम देशभर में बने मछली घर के बारे में जानकारी जुटा रही है।

दो मंजिला इमारत को तीन लेयर में बनाएंगे
मछली घर को दो मंजिला बनाया जाएगा। इसे तीन लेयर में बनाया जाएगा ताकि पानी बाहर न निकले। इसे अट्रैक्टिव बनाने के लिए एक तरफ फव्वारा चलेगा तो दूसरी तरफ वॉटरफॉल जैसा पानी भी गिरेगा। यहां पर समुद्री जीव-जंतुओं को भी रखा जाएगा। पानी को समुद्र जैसा खरा बनाने के लिए केमिकल का उपयोग किया जाएगा। ऑक्सीजन लेवल को बनाए रखने के लिए मशीन लगाई जाएगी। ऑक्टोपस और शार्क मछली जैसी खतरनाक जीव को भी लोग यहां नजदीक से देख सकेंगे।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


The fish house will be built in 10 thousand square feet in old pond, the cave will be in shape

Powered by WPeMatico

%d bloggers like this: