Our website is made possible by displaying online advertisements to our visitors. Please consider supporting us by whitelisting our website.

कोर्ट ने वीचैट को बैन करने के आदेश पर रोक लगाई, इससे राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा होने की दलील मानने से इनकार किया


चीन की मैसेजिंग कंपनी वीचैट को भी अमेरिकी बाजार में कुछ दिनों के लिए राहत मिल गई है। अमेरिकी कोर्ट ने ऐप डाउनलोडिंग प्लेटफॉर्म से इन्हें हटाने के ट्रम्प सरकार के आदेश पर रोक लगा दी है। शुक्रवार को कॉमर्स डिपार्टमेंट ने वीचैट को डाउनलोडिंग प्लेटफॉर्म्स से हटाने का ऑर्डर जारी किया था। इस ऑर्डर को वीचैट कस्टमर्स ने कोर्ट में चुनौती दी थी। इससे पहले रविवार को ही टिकटॉक ने भी अमेरिका की दो कंपनियों से करार कर लिया, जिसके बाद उसे भी यहां एक हफ्ते की राहत दे दी गई।

रविवार को डिपार्टमेंट ने कोर्ट में वीचैट ऐप से राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा होने की दलील दी। हालांकि, जज लॉरेल बीलर ने इसे मानने से इनकार कर दिया। जज ने आदेश में लिखा- सरकार की ओर से राष्ट्रीय सुरक्षा में दिलचस्पी दिखाना अहम है। सरकार ने इस मामले में यह तो बताया है कि चीन की गतिविधियां राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा है। हालांकि, इस बात के काफी कम सबूत पेश किए कि वीचैट को अमेरिका के सभी लोगों के लिए बैन करना इस खतरे को रोकने में असरकारी है।

टिकटॉक ने अमेरिकी कंपनियों के साथ साझेदारी की

चाइनीज शॉर्ट वीडियो प्लेटफॉर्म ऐप टिकटॉक ने रविवार को यूएस के अपने बिजनेस में दो अमेरिकी कंपनियों को साझेदार बनाने का ऐलान किया। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने इस पर कहा, ‘मैंने इस डील को अपना आशीर्वाद दिया है। अब इसका (टिकटॉक का) चीन से कोई लेना देना नहीं होगा। वॉलमार्ट और ओरेकल इस सौदे में शामिल हैं। इसके बाद एक नई कंपनी बनाई जाएगी। यह अमेरिका के लिए एक बड़ा सौदा है। यह अब 100% सुरक्षित है और इसकी सुरक्षा समझौते का हिस्सा रही है।’

सौदे पर ट्रम्प के ऐलान के कुछ ही देर बाद अमेरिका कॉमर्स डिपार्टमेंट ने टिकटॉक पर बैन एक हफ्ते के लिए टाल दी। सेक्रेटरी ऑफ कॉमर्स विल्बर रॉस ने कहा, ‘राष्ट्रपति ट्रम्प के निर्देश के बाद टिकटॉक मोबाइल एप्प पर 20 सितंबर से लागू होने वाला बैन 27 सितंबर तक के लिए रोक दिया गया है।’

कंपनी का नया नाम होगा टिकटॉक ग्लोबल बिजनेस

टिकटॉक के यूएस कारोबार में 20 फीसदी हिस्सेदारी पर ओरेकल और वॉलमार्ट इनवेस्ट करेंगे। ओरेकल और वॉलमार्ट ने शनिवार को कहा कि इस नई कंपनी में अमेरिकी इनवेस्टर्स का मालिकाना हक होगा। वॉलमार्ट फिलहाल टिकटॉक में 7.5 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने की योजना बना रही है।

कंपनी के सीईओ डग मैकमिलन कंपनी के पांच बोर्ड मेंबर्स में से एक होंगे। टिकटॉक की पैरेंट कंपनी बाय डांस इसके बाकी बचे 80 फीसदी हिस्से की खरीदारी कर सकती है। इस नई कंपनी का मुख्यालय अमेरिका में ही होगा।

ट्रम्प ने ओरेकल और वॉलमॉर्ट को शुभकामनाएं दीं

ट्रम्प ने कहा- इस समझौते को मैं अपनी शुभकामनाएं देता हूं। इसमें अब चीन के क्लाउड का इस्तेमाल नहीं होगा। अमेरिकी कंपनियां अपने अलग क्लाउड का उपयोग करेंगी। इसके साथ ही सुरक्षा को मजबूत करने के लिए दूसरे उपाय भी अपनाए जाएंगे। मुझे इस बात की खुशी है कि टिकटॉक के प्रस्ताव को ओरेकल और वॉलमार्ट ने अमेरिकी प्रशासन की चिंता को ध्यान में रखकर हल किया। इससे अमेरिका में टिकटॉक के भविष्य को लेकर सवाल भी नहीं किए जाएंगे। हालांकि, कंपनी को अमेरिका के कानून और गोपनीयता से जुड़े प्रावधानों का पालन करना होगा।

टिकटॉक को अमेरिकी बिजनेस बेचने का ऑर्डर जारी हुआ था

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने 6 अगस्त को टिकटॉक की पैरेंट कंपनी बाय डांस को अपना अमेरिकी कारोबार बेचने का एग्जीक्यूटिव ऑर्डर जारी किया था। इसमें कहा गया था कि अगर 45 दिन में कंपनी अपना बिजनेस किसी अमेरिकी कंपनी को नहीं बेचती है तो इस पर रोक लगा दी जाएगी। यह समय रविवार को पूरा हो रहा था।

ट्रम्प ने टिकटॉक को राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा बताया था

ट्रम्प ने टिकटॉक को राष्ट्रीय सुरक्षा, विदेश नीति और इकोनॉमी के लिए खतरा बताया था। उन्होंने कहा था कि टिकटॉक ऑटोमैटिकली यूजर की जानकारी हासिल कर लेता है। डिपार्टमेंट ऑफ होमलैंड सिक्योरिटी, ट्रांसपोर्टेशन सिक्योरिटी एडमिनिस्ट्रेशन और आर्म्ड फोर्सेस में टिकटॉक का इस्तेमाल पहले ही बंद किया जा चुका है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


अमेरिकी बाजार में चीन के दो ऐप को रविवार को राहत मिली। फिलहाल यह दोनों ऐप अमेरिका में बैन नहीं की जाएगी। – फाइल फोटो


Trump said – My blessing was that Tiktok’s deal was decided with the American company, the Commerce Department postponed the ban till 27 September

Powered by WPeMatico

%d bloggers like this: