Our website is made possible by displaying online advertisements to our visitors. Please consider supporting us by whitelisting our website.

रूस की संस्था ने कहा- 2020-2021 में 100 करोड़ से ज्यादा लोगों को वैक्सीन स्पूतनिक-वी लगाया जाएगा; अब तक 2.83 करोड़ केस


कोरोनावायरस से दुनिया में अब तक 2 करोड़ 83 लाख 22 हजार 716 लोग संक्रमित हो चुके हैं। 9 लाख 14 हजार 503 लोगों की जान जा चुकी है। अच्छी बात यह है कि 2 करोड़ 3 लाख 68 हजार 115 लोग ठीक भी हो चुके हैं। ये आंकड़े www.worldometers.info/coronavirus/ से लिए गए हैं।

रूस के सॉवरेन वेल्थ फंड ने शुक्रवार को कहा कि 2020-21 में 100 करोड़ से ज्यादा लोगों को रूस का कोरोना वैक्सीन स्पूतनिक-वी लगाया जाएगा। इंटरफैक्स न्यूज एजेंसी ने इसकी जानकारी दी। रशियन डायरेक्ट इनवेस्टमेंट फंड (आरडीआईएफ) वैक्सीन एक्सपोर्ट करने के लिए दो डील किए हैं। इसके साथ ही शुक्रवार को ब्राजील के बाहिया राज्य के साथ वैक्सीन के फेज थ्री के क्लीनिकल ट्रायल पर भी सहमति बन गई।

इन 10 देशों में कोरोना का असर सबसे ज्यादा

देश

संक्रमित मौतें ठीक हुए
अमेरिका 65,88,163 1,96,328 38,79,960
भारत 45,59,725 79,304 35,39,983
ब्राजील 42,39,763 1,29,725 34,9,337
रूस 10,46,370 18,263 8,62,373
पेरू 7,10,067 30,344 5,44,745
कोलंबिया 6,94,664 22,275 5,59,479
मैक्सिको 6,52,364 69,649 4,58,850
साउथ अफ्रीका 6,44,438 15,265 5,73,003
स्पेन 5,54,143 29,699 उपलब्ध नहीं
अर्जेंटीना 5,24,198 10,907 3,90,098

ईरान में 19 अगस्त के बाद शुक्रवार को संक्रमण के सबसे ज्यादा 2313 मामले मिले। वहीं, 115 लोगों ने दम तोड़ दिया। जून के बाद यहां हर दिन 100 से ज्यादा मौतें हो रही हैं। ईरान में अब तक 3 लाख 97 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं, जबकि 22,913 की मौत हो चुकी है।

महामारी घोषित हुए 6 महीने, स्थितियां अभी भी गंभीर

कोरोनावायरस को महामारी घोषित हुए 6 महीने बीत चुके हैं। डब्ल्यूएचओ ने 11 मार्च को इसका ऐलान किया था। हालांकि स्थितियां अभी भी गंभीर बनी हुई हैं। वैक्सीन आने में अभी भी काफी वक्त है। उधर, चीन ने अपने पहले नेजल (नाक से लिए जाने वाले) कोरोना वैक्सीन के ट्रायल को अनुमति दे दी है। इसके पहले फेज का क्लीनिकल ट्रायल नवंबर में शुरू होगा।

वहीं, हाल ही में ऑक्सफोर्ड और एस्ट्राजेनेका कंपनी के वैक्सीन का ट्रायल रोके जाने पर डब्ल्यूएचओ ने कहा है कि इसे एक चेतावनी के तौर पर देखा जाना चाहिए। हालांकि, वैज्ञानिकों को ज्यादा परेशान होने की जरूरत नहीं है। किसी भी क्लीनिकल रिसर्च में उतार-चढ़ाव तो आते रहते हैं।

चीन: नेजल वैक्सीन के ट्रायल को अनुमति

चीन ने नेजल (नाक से लिए जाने वाले) कोरोना वैक्सीन के ट्रायल को अनुमति दे दी है। पहले फेज का क्लीनिकल ट्रायल नवंबर में शुरू होगा, जिसके लिए 100 वॉलंटियर्स तैनात किए जा रहे हैं। वैक्सीन को यूनिवर्सिटी ऑफ हॉन्गकॉन्ग, शियामेन यूनिवर्सिटी और बीजिंग की वान्ताई बायोलॉजिकल फॉर्मेसी मिलकर तैयार कर रही हैं। हॉन्गकॉन्ग यूनिवर्सिटी के शोधकर्ता यूएन क्वोक-युंग के मुताबिक, 3 ट्रायल्स करीब एक साल में खत्म होंगे। ये वैक्सीन दोहरी सुरक्षा यानी इन्फ्लुएंजा और नॉवेल कोरोनावायरस से सुरक्षा देगी।

फ्रांस: रिकॉर्ड 9843 नए मामले आए
फ्रांस में कोरोना के 9843 नए मामले आए हैं। महामारी फैलने के बाद यह एक दिन में आए सबसे ज्यादा मामले हैं। देश में 3.53 लाख से ज्यादा संक्रमित हैं। फ्रांस में 5096 मरीज अस्पताल में भर्ती हैं। पिछले 24 घंटे में कोरोना से 19 लोगों की जान गई। देश में मरने वालों की संख्या 30 हजार 813 हो गई।

फ्रांस के मार्सेल में एक हॉस्पिटल में कोरोना मरीज का इलाज करते डॉक्टर। – फाइल फोटो

ब्राजील: 40 हजार 557 नए मामले आए
ब्राजील में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 40 हजार 557 नए मामले सामने आए और 983 ने दम तोड़ा। यहां अब तक 42.38 लाख से ज्यादा संक्रमित हो चुके हैं और 1.29 लाख से ज्यादा की जान जा चुकी है। एक दिन पहले यहां 35 हजार 816 मामले आए थे और 1075 की मौत हुई थी। दुनिया में कोरोना मामलों के लिहाज से ब्राजील तीसरे नंबर पर है।

ब्राजील के रियो ग्रांड डु सुल राज्य में एक फैक्ट्री के बाहर कर्मचारियों का तापमान चेक करते हुए। -फाइल फोटो

मैक्सिको: अब तक 69 हजार से ज्यादा की मौत
मैक्सिको में पिछले 24 घंटे में 554 लोगों की जान गई है। यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 69 हजार 649 हो गई है। देश में अब तक 6.52 लाख से ज्यादा संक्रमित हो चुके हैं। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन ने 11 मार्च को महामारी घोषित की थी। तब से अब तक छह महीने बीत चुके हैं। कोरोना संक्रमण की रफ्तार थमती नहीं दिख रही है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


रूस की राजधानी मॉस्को में एक बुजुर्ग महिला मास्क पहेने बाहर नजर आई। देश में अब तक 10 लाख से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं।

Powered by WPeMatico

%d bloggers like this: