Our website is made possible by displaying online advertisements to our visitors. Please consider supporting us by whitelisting our website.

जब विक्टिम को अस्पताल लाया गया था, उस दिन के CCTV फुटेज नहीं मिले; अफसर बोले- हम सिर्फ 7 दिन का बैकअप रखते हैं


उत्तर प्रदेश के हाथरस में 19 साल की दलित युवती से कथित गैंगरेप और मौत के मामले में जिला प्रशासन और पुलिस की बड़ी लापरवाही सामने आई है। इसका खुलासा CBI की जांच में हुआ है। बीते मंगलवार को जांच टीम हाथरस जिला अस्पताल में सबूत जुटाने पहुंची, लेकिन यहां 14 सितंबर यानी घटना के दिन का CCTV फुटेज गायब मिला।

अस्पताल के मैनेजमेंट ने तर्क दिया कि जिला प्रशासन और पुलिस ने उस समय फुटेज नहीं लिए थे, जब विक्टिम को यहां इलाज के लिए लाया गया था। घटना के एक महीने बीत जाने के बाद अब CCTV फुटेज बैकअप में नहीं हैं। इस पर CBI ने अस्पताल के चीफ मेडिकल सुपरिंटेंडेंट और डॉक्टरों को फटकार लगाई। ऐसे में अब संदेह के घेरे में हाथरस जिला अस्पताल के डॉक्टर भी हैं।

पांच सवालों के जवाब चाहती थी CBI

दरअसल, विक्टिम को उसके परिवार वालों ने 14 सितंबर को जिला अस्पताल में भर्ती करवाया था। यहां हालत गंभीर होने के चलते शुरुआती इलाज के बाद उसे अलीगढ़ के जेएन मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया था। CBI इन सवालों के जवाब चाहती थी…

  • विक्टिम को भर्ती करते समय कौन-कौन उसके साथ थे?
  • किस डॉक्टर ने इलाज किया?
  • विक्टिम कितने देर अस्पताल में रही?
  • उससे मिलने कौन-कौन आया?
  • उसने कितने लोगों से बात की?

अफसर ने कहा- हमारे कैमरे ठीक थे, मगर अब बैकअप नहीं है

फुटेज न मिलने के कारण CBI अब सिर्फ बयानों के आधार सबूत जुटा रही है। हाथरस जिला अस्पताल के चीफ मेडिकल सुपरिंटेंडेंट इंद्रवीर सिंह ने कहा कि हमारे कैमरे ठीक थे, लेकिन उनका बैकअप सिर्फ 7 दिन का है। CBI 29 दिन बाद आई, इसलिए बैकअप नहीं मिल पाया। हर 7 दिन बाद पुराने रिकॉर्ड डिलीट हो जाते हैं। यदि प्रशासन कहता तो हम 14 सितंबर के फुटेज सुरक्षित रखवा लेते।

हाथरस में लड़की से ज्यादती हुई, दिल्ली में इलाज के दौरान मौत हुई

हाथरस जिले के चंदपा इलाके के बुलगढ़ी गांव में 14 सितंबर को 4 लोगों ने 19 साल की दलित युवती से कथित गैंगरेप किया था। आरोपियों ने युवती की रीढ़ की हड्डी तोड़ दी और उसकी जीभ भी काट दी थी। दिल्ली में इलाज के दौरान 29 सितंबर को पीड़ित की मौत हो गई। मामले में चारों आरोपी गिरफ्तार कर लिए गए हैं। हालांकि, पुलिस का दावा है कि दुष्कर्म नहीं हुआ था।

हाथरस केस से जुड़ी यह खबर भी आप पढ़ सकते हैं:-

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


हाथरस के जिला अस्पताल में विक्टिम का 14 सितंबर को इलाज हुआ था। यहीं से उसे अलीगढ़ रेफर किया गया था। -फाइल फोटो

Powered by WPeMatico

%d bloggers like this: