Our website is made possible by displaying online advertisements to our visitors. Please consider supporting us by whitelisting our website.

एक नवंबर से आयरन और विटामिन वाला चावल बांटने की होगी शुरुआत


सरकार भोजन में आवश्यक पोष्टिक तत्वों की पूर्ति और कुपोषण के नियंत्रण के लिए एक नवंबर राज्य स्थापना दिवस से फोर्टिफाइड राइस वितरण की अभिनव योजना शुरू करने जा रही है। आयरन और विटामिन से युक्त फोर्टिफाइड राइस वितरण की यह योजना राज्य के कोण्डागांव जिले में पायलट प्रोजेक्ट के रूप में शुरू होगी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने वर्ष 2020-21 के अपने बजट भाषण में इस योजना को प्रारंभ करने की घोषणा की थी। इसके लिए 5 करोड़ 80 लाख रुपए का बजट प्रावधान भी किया गया है।
गौरतलब है कि फोर्टिफाइड राइस में लौह तत्व, विटामिन बी-12 तथा फोलिक एसिड युक्त फोर्टिफाइड राइस करनेल (एफआरके) का मिश्रण होता है। जो लोगों को खुराक में आवश्यक पोष्टिक तत्वों की पूर्ति के साथ ही कुपोषण के नियंत्रण में काफी मददगार साबित होगा। इस राइस का वितरण कोण्डागांव जिले में सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) और अन्य कल्याणकारी योजनाओं के तहत किया जाएगा। इस राइस का भारतीय खाद्य सुरक्षा मानक प्राधिकरण (एफएसएसआई) द्वारा निर्धारित मापदण्ड अनुसार वितरण किया जाएगा। कोण्डागांव जिले मेें पीडीएस एवं अन्य कल्याणकारी योजनाओं के तहत समस्त चावल को फोर्टिफाइड कर वितरित किया जाएगा। फोर्टिफाइड राइस तैयार करने लिए दो राइस मिल को राइस ब्लेडिंग कार्य सौंपा गया है। काेंडागांव जिले में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत एक लाख 11 हजार 217 राशनकार्ड तथा राज्य योजना के तहत 23 हजार 204 राशनकार्ड इस तरह कुल एक लाख 34 हजार 421 राशनकार्ड प्रचलित है। इस जिले में चांवल का कुल वार्षिक आबंटन 60 हजार 188 टन है जिसमें पीडीएस चांवल का 55 हजार 068 टन है और कल्याणकारी योजना, मध्यान्ह भोजन, पूरक पोषण आहार आदि योजनाओं का वार्षिक आबंटन 5 हजार 120 टन है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


फाइल फोटो।

Powered by WPeMatico

%d bloggers like this: