Our website is made possible by displaying online advertisements to our visitors. Please consider supporting us by whitelisting our website.

मौसेरे भाई की रकम पर नीयत डोली, व्यापारी ने रच डाली लूट की झूठी कहानी


शहर के मानिकपुर चौकी से चंद कदम की दूरी पर रिक्रिएशन क्लब के सामने मेन रोड पर शनिवार की सुबह 11 बजे कांशीनगर-निहारिका निवासी मोबाइल व्यापारी अंकित केशरवानी (24) ने कथित बाइकर्स द्वारा पीठ पर नुकीला हथियार टिकाकर लूटपाट करना बताया था। जिसमें एक्टिवा की डिक्की से 95 हजार रुपए समेत उसके हाथ से सोने की अंगूठी व गले से चांदी की चेन उतारकर लूटने का जिक्र था। चौकी के समीप और दिनदहाड़े ऐसी घटना की सूचना पर हड़कंप मच गया था। सिटी कोतवाली टीआई दुर्गेश शर्मा व मानिकपुर चौकी प्रभारी अशोक पांडेय सूचना मिलते ही घटनास्थल पहुंच गए थे।

लुटेरों को पकड़ने संभावित मार्गों समेत सभी थाना-चौकी क्षेत्र में नाकेबंदी करके दोपहिया वाहनों की जांच की जा रही थी। दूसरी ओर घटना की जांच में पुलिस टीम जुटी थी। जांच के दौरान अंकित के बयान से मामला संदेहास्पद लगा। पुलिस ने घटनास्थल के आसपास मिशन सिक्योर सिटी के तहत लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज खंगाला। पुलिस ने जब अंकित पर संदेह जताते हुए कड़ाई से पूछताछ की तो घटना के 7 घंटे के भीतर ही लूट का मामला फर्जी निकल गया।

मौसेरे भाई के कहने पर रकम लेने गया था

एक्टिवा की डिक्की से जो रकम लूटी गई बताई थी वह अंकित के शहडोल निवासी मौसेरे भाई प्रकाश की थी। प्रकाश ने अंकित को मोबाइल पर कॉल करके एसबीएस काॅलोनी निवासी सुषमा त्रिपाठी से जाकर 95 हजार रुपए लेने और उसे उसके बैंक एकाउंट में जमा करने के लिए कहा था। लेकिन अंकित रकम को लेकर घर गया। जहां उसने रुपए समेत अपने सोने की अंगूठी व चांदी के चेन को छिपा दिया। इसके बाद रिक्रिएशन क्लब के पास पहुंचकर लूट होने की सूचना पुलिस को दी। लेकिन क्षेत्र में लगे सीसीटीवी में वह खुद ही बार-बार घूमते हुए नजर आया।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

Powered by WPeMatico

%d bloggers like this: