Our website is made possible by displaying online advertisements to our visitors. Please consider supporting us by whitelisting our website.

शिक्षकों ने गांव की दीवारों पर बनाए 20 से ज्यादा ब्लैक बोर्ड, इसी में लिख रहे हैं असाइनमेंट


भास्कर न्यूज|
कोरोना संक्रमणकाल में प्रदेश में चलाई जा रही शैक्षणिक योजनाओं का असर अब कोंडागांव जिले में दिखने लगा है। कलेक्टर पुष्पेंद्र कुमार मीणा और जिला शिक्षा अधिकारी राजेश चंद्र मिश्रा के मार्गदर्शन में इन दिनों घर-घर ब्लैक बोर्ड योजना चलाई जा रही है। इस योजना का लाभ अधिक से अधिक बच्चों को मिले इसलिए शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के शिक्षकों ने अन्य शिक्षकों के सामने एक मिसाल पेश की है।
गांव में रहने वाले अधिकतर बच्चों को पढ़ाने के लिए शिक्षकों ने दो से तीन घरों के बीच एक ब्लैक बोर्ड बनाया है। इसके माध्यम से बच्चों को विभिन्न विषय पढ़ाए जा रहे हैैं। इसके अलावा शिक्षक कुछ असाइनमेंट व होमवर्क भी इन बोर्ड पर लिखकर चले जाते हैं जिन बच्चों को इन प्रश्नों का उत्तर पता होता है वे तुरंत ही बोर्ड पर जाकर इसका उत्तर लिख देते हैं। बाकी के बच्चे इसे कापी में हल करते हैं। इस तरह से होने वाली पढ़ाई का फायदा अधिक से अधिक बच्चों को मिले इसके लिए सुरडोंगर में करीब 20 से अधिक ब्लैक बोर्ड लगाए गए हैं।
जनप्रतिनिधियों ने की योजना की तारीफ: कोंडागांव जिले में इस पहल का फायदा बच्चों को बड़े पैमाने पर मिल रहा है इसकी जानकारी मिलने के बाद मंगलवार को नगर पंचायत के अध्यक्ष रोशन जमीर, उपाध्यक्ष बिहारीलाल सोरी, शाला विकास समिति के फिरोज मेमन एवं अन्य लोग मौजूद थे। जिन्होंने राज्य स्तर पर किए जा रहे इस प्रयास की तारीफ की। उन्होंने कहा कि नगर पंचायत क्षेत्र में कोरोना की विकट परिस्थितियों के दौरान इस प्रकार की पहल प्रशंसा के लायक है।

शिक्षकों का सहयोग मिल रहा है : प्राचार्य ठाकुर
प्राचार्य रामगोपाल ठाकुर ने इस योजना को सफल करने के लिए स्कूल के शिक्षकों एवं एनएसएस के छात्रों के सहयोग से ब्लैक बोर्ड का निर्माण करवाया। उन्होंने बताया कि इस योजना को लेकर संस्था के उप प्राचार्य ईश्वर लाल पटेल व शिक्षकों में गीताराम वटी, आशा फिरदोस, धनेश मंडावी, अनिता कुंजाम, विकास नेताम एवं पढ़ाई तुंहर द्वार के कार्यालय सहायक रजनीश मिश्रा एवं संस्था के अन्य अन्य सभी शिक्षक एवं शिक्षिकाओं ने स्वयं पहली से लेकर 12वीं तक के बच्चों के लिए ब्लैक बोर्ड में जाकर असाइनमेंट एवं होमवर्क दिया और कुछ सब्जेक्ट को समझाते हुए प्रश्न हल किए। जिसे सप्ताह में दो बार अलग-अलग शिक्षकों के द्वारा बदला जाएगा।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Teachers are writing assignments in more than 20 black boards on the walls of the village

Powered by WPeMatico

%d bloggers like this: