Our website is made possible by displaying online advertisements to our visitors. Please consider supporting us by whitelisting our website.

तेज रफ्तार ट्रक ने बिजली कंपनी की पिकअप को मारी टक्कर; 3 घंटे फंसे रहे सभी, 2 जूनियर इंजीनियर सहित 4 की मौत


छत्तीसगढ़ के रायगढ़ में बुधवार देर रात सड़क हादसे में बिजली विभाग के दो जूनियर इंजीनियर सहित 4 लोगों की मौत हो गई। हादसा तेज रफ्तार ट्रक के विभाग की पिकअप को टक्कर मारने के चलते हुआ। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि चारों पिकअप में ही फंसे रह गए। करीब 3 घंटे बाद घटना का पता चला तो रेस्क्यू किया गया। हादसा खरसिया थाना क्षेत्र में हुआ।

हादसे के बाद ट्रक भी बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया। उसका अगला पहिया टूट गया और अनियंत्रित होकर सड़क किनारे झाड़ियों में जा घुसा।

जानकारी के मुताबिक, छाल में बेरहामार और देहजरी इलाके में हाथियों की आवाजाही की सूचना पर बिजली सप्लाई बंद की गई थी। देर रात सप्लाई को बहाल कर चंद्रपुर निवासी जेई सुशील सिदार (42), कोरबा निवासी जेई अमल एक्का 30 वर्ष, परस्कोल, खरसिया निवासी लाइनमैन राजेंद्र सिदार (43) और पुरानी बस्ती खरसिया निवासी चालक भार्गव वैष्णव (28) पिकअप से लौट रहे थे।

हादसे के बाद चालक ट्रक छोड़कर भाग निकला
अभी वे रात करीब 9.30 बजे छाल रोड के भालूनारा के नजदीक पहुंचे ही थे कि सामने से आ रहे तेज रफ्तार ट्रक ने पिकअप को टक्कर मार दी। टक्कर इतनी जोरदार थी कि नई पिकअप के परखच्चे उड़ गए। हादसे क बाद चालक ट्रक छोड़कर भाग निकला। करीब 3 घंटे बाद रात 12.30 बजे घटना का पता चला। इसके बाद किसी तरह पिकअप सवार सभी लोगों को बाहर निकाला गया।

दो की मौके पर ही मौत, दो ने अस्पताल पहुंचकर दम तोड़ा
पुलिस अधीक्षक संतोष सिंह ने बताया कि दो लोगों की घटनास्थल पर ही मौत हो चुकी थी। जबकि दो अन्य लोगों को खरसिया स्थित अस्पताल ले गए, लेकिन वहां पहुंचने पर डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। उन्होंने बताया कि मौके पर देखकर ऐसा लग रहा है कि दोनों वाहनों की रफ्तार काफी तेज थी। देर रात विभाग के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर गुंजन शर्मा ने एफआईआर दर्ज कराई है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


छत्तीसगढ़ के रायगढ़ में बुधवार देर रात सड़क हादसे में बिजली विभाग के दो जूनियर इंजीनियर सहित 4 लोगों की मौत हो गई। हादसा तेज रफ्तार ट्रक के विभाग की पिकअप को टक्कर मारने के चलते हुआ।

Powered by WPeMatico

%d bloggers like this: