Our website is made possible by displaying online advertisements to our visitors. Please consider supporting us by whitelisting our website.

उनसे बिना गुस्सा हुए धैर्य के साथ बात करने का प्रयास करें, अगर बात न बनें तो अन्य पड़ोसियों से मिलकर उन्हें समझाएं


लंबे समय से घर में हैं, वर्क फ्रॉम होम भी कर रहे हैं। ऐसे में जब सभी काम खत्म कर चाय पीने बैठते हैं, तो पड़ोसियों के घर से आने वाला शोर आपको परेशान कर देता है। तेज़ आवाज़ में गाने बजते हैं, फेसटाइम पर बातें करने की आवाज़ें भी आती हैं। सोशल डिस्टेंसिंग के दौरान इस तरह की आवाजों से परेशान हो चुके हैं, तो ऐसे में ये चार उपाय अपनाएं :

1. बात करने में देर ना करें

पड़ोसी का सामना करना आसान नहीं होता। यह बताना कि वो अपने ही घर में कैसे रहें, अजीब लग सकता है। लेकिन जब तक बात नहीं करेंगे, परेशान रहेंगे। ज्यादातर लोग लंबे समय तक परेशान रहते हैं, लेकिन बात नहीं करते। फिर अपना गुस्सा कहीं और निकालते हैं। इस बारे में अपने पड़ोसी से बिना गुस्सा हुए, धैर्य के साथ बात की जा सकती है। केवल एक विनम्र टेक्स्ट मैसेज भेजकर भी समस्या का हल निकाल सकते हैं।

2. परिस्थिति को समझें

शोर मचाने वाला पड़ोसी सिरदर्द बन सकता है। खासकर जब आप किसी बड़े प्रोजेक्ट पर काम कर रहे हैं या सोने की कोशिश कर रहे हैं। ऐसे में सबसे पहले उनका नज़रिया समझने की कोशिश करें। हो सकता है वो इस बात से पूरी तरह बेखबर हों कि उनकी आवाज़ आप तक पहुंच रही है।

3. अपनी बात रखिए

यदि पड़ोसी आपको शांत रहने के लिए कहें खासकर तब जब आप संगीत सुनकर रिलैक्स करने की कोशिश कर रहे हैं, तो आपको भी बुरा लग सकता है। स्वस्थ बातचीत तभी संभव है जब दोनों एक दूसरे के नजरिए से चीजों को समझें। जब आप गुस्से में बात करते हैं तो मकसद केवल दूसरे की गलती साबित करना होता है। विनम्रता के साथ अपनी समस्या बताएंगे तो वे आपको समझेंगे। उन्हें बताएं कि आपको शोर परेशान कर रहा है। कहें कि ‘आपके घर से आने वाली आवाजों की वजह से मुझे काम करने में दिक्कत होती है, सोने में भी दिक्कत होती है। आप मेरी मदद करें तो आभारी रहूंगा।’

4. पड़ोसियों से बात करें

जरूरी नहीं कि पड़ोसी से गहरी मित्रता रखें लेकिन संबंध बनाए रखने में आपका हित है। उन्हें टेक्स्ट मैसेज भेज सकते हैं। कभी आते-जाते हाल पूछ सकते हैं। पहले कभी बात नहीं की है, तो अपना फोन नंबर और नाम दरवाजे पर रख सकते हैं।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Try to talk to them patiently without getting angry, meet the other neighbors and explain them

Powered by WPeMatico

%d bloggers like this: