22 लाख की धोखाधड़ी का आरोपी घर में पकड़ाया..ठिकाने से दस्तावेज सील बरामद..FIR के बाद चल रहा था फरार

बिलासपुर—- लहरिया फर्म में  22 लाख की धोखाध़ड़ी का मुख्य आरोपी विक्रम जन्मेजय सिंह को सिविल लाइन पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। एफआईआर के बाद आरोपी कई दिनों फरार चल रहा था। गिरफ्तारी के दौरान आरोपी के ठिकाने से लहरिया फर्म की सील और दस्तावेज को भी पुलिस ने बरामद किया है। 

                जानकारी देते चलें कि कुछ दिनों पहले लहरिया फर्म के संचालक अनूप लहरिया ने सिविल लाइन थाना पहुंचकर अपने प्रबंधक पर धोखाड़ी किए जाने की शिकायत किया था। अनूप लहरिया ने बताया कि आरोपी विक्रम जन्मेजय सिंह पूर्व से परिचित हैं। यही कारण है कि जन्मेजय को फर्म का प्रबंधक बनाया। लेकिन आरोपी ने विश्वासघात करते हुए फर्म को 22 लाख का चूना लगाया है।

               अनूप ने अपनी शिकायत में यह भी बताया है कि आरोपी ने फर्म के दस्तावेज और सील को विश्वास में लेकर हासिल किया। इसके बाद उसने लहरिया लैटर पैड के सहारे ठेकेदारी की बकाया राशि को जगह जगह से वसूल किया। मा्मले की जानकारी मिलने के बाद शिकायत करने आया हूं।

                सिविल लाइन पुलिस के अनुसार अनूप लहरिया की शिकायत पर एफआईआर दर्ज किया गया। एफआईआर की जानकारी के बाद आरोपी विक्रम जन्मेजय फरार हो गया। पुलिस लगातार आरोपी की तलाश कर रही थी। इसी दौरान जानकारी मिली कि आरोपी इस समय घर में है। पुलिस टीम ने घेराबन्दी धर दबोचा।पुलिस ने आरोपी के ठिकाने से लहरिया फर्म के दस्तावेज सील और लैटरहैड को भी बरामद किया।

                पूछताछ के दौरान आरोपी ने 22 लाख की धोखध़ड़ी किए जाने का जुर्म स्वीकार किया। आरोपी ने बताया कि रूपयों को अपने फर्म के कामकाज में लगाया है। आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 420 के तहत अपराध दर्ज कर न्यायाल के सामने पेश किया गया है।

The post 22 लाख की धोखाधड़ी का आरोपी घर में पकड़ाया..ठिकाने से दस्तावेज सील बरामद..FIR के बाद चल रहा था फरार appeared first on CGWALL-Chhattisgarh News.